इस तरह दिव्यांग युवक की हो गई दर्दनाक मौत, कंधे पर था परिवार का बोझ, मच गया हाहाकार

मनोज अपने भाई दीपू के साथ चाय व पान की दुकान चलाता था।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 03 Jan 2020, 03:22 PM IST

कानपुर देहात-जनपद के रसूलाबाद कस्बे में उस समय एक घर में हाहाकार मच गया, जब एक दिव्यांग युवक करंट की चपेट में आ गया और उसकी दर्दनाक मौत हो गई। मां पिता भाई बहनों की जिम्मेदारी लिए मनोज अपने भाई के सहयोग से चाय व पान की दुकान चलाकर घर का भरण पोषण करता था। सच तो यह कि वह खुद दिव्यांग होने के बावजूद अपने परिवार के लिए बैसाखी बनकर गुज़ारा कर रहा था। हादसे के बाद परिजनों में कोहराम मच गया।

रसूलाबाद कस्बा के लोहिया नगर निवासी चुन्नीलाल का दिव्यांग पुत्र मनोज सुबह के समय वॉटर हीटर से पानी गर्म कर रहा था। इसी दौरान वह अचानक करंट की चपेट में आकर गिर गया। परिजनों ने देखा तो किसी तरह उसे करंट से अलग करके सामुदायिक स्वास्थ केंद्र ले गए। जहां मौजूद डॉक्टर सौरभ शाक्य ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही उसकी मौत पर मां द्रोपदी, पिता चुन्नीलाल, भाई दीपू, विवाहित बहनें बेबी, मंजू, दीपा व सपना का रो-रोकर बुरा हाल था। मनोज अपने भाई दीपू के साथ चाय व पान की दुकान चलाता था।

बताया गया कि मनोज मूल रूप से झींझक थाना मंगलपुर के डिलौलिया गांव का निवासी था। अपने ननिहाल में रह रहा था। उसका विवाह डालीगंज, लखनऊ निवासी शिखा से हुआ था। चर्चा में रहा कि मनमुटाव हो जाने से पत्नी का आना जाना नहीं था। थाना प्रभारी तुलसीराम पांडेय ने बताया कि सूचना पर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। रिपोर्ट आने पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned