तंत्र-मंत्र के चक्कर में दिवाली की रात 6 साल की मासूम की निर्मम हत्या, शरीर के कई अंग भी निकाले

वारदात कानपुर के घाटमपुर क्षेत्र के भदरस गांव के रहने वाले करन संखवार से जुड़ी है।

कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर के घाटमपुर कोतवाली के भदरस गांव में दिवाली की रात 6 साल की मासूम बच्ची की नृशंस हत्या कर दी गई। लड़की के परिजनों का आरोप है कि तंत्र मंत्र के चक्कर में उनकी बच्ची की हत्या की गई है। बच्ची के शरीर के कई अंदरूनी अंग भी गायब हैं। परिजनों के मुताबिक बच्ची पटाखा लेने के लिए घर से निकली थी, लेकिन काफी देर बाद भी जब वह वापस घर नहीं पहुंची को परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की। जिसके बाद सुबह के समय काली मंदिर के पास झाड़ियों में उसका खून से सना शव मिला। हत्या के बाद से ग्रामीणों में काफी आक्रोश है। ग्रामीणों में आक्रोश को देखते हुए मौके पर पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है।

 

लड़की के निकाले अंग

वारदात कानपुर के घाटमपुर क्षेत्र के भदरस गांव के रहने वाले करन संखवार से जुड़ी है। उनकी 6 साल की बेटी की निर्मम हत्या कर दी गई। हत्यारा बच्ची के दोनों फेफड़े निकालकर भी ले गया। बच्ची का शव नग्न अवस्था में सोमवार तड़के सुबह गांव के काली मंदिर के पास मिला। यह खौफनाक वारदात शनिवार को दिवाली के दिन हुई। लोगों का कहना है कि तांत्रिक द्वारा मासूम बच्ची की हत्या की गई है।

 

जांच में जुटी पुलिस

पुलिस का कहना है कि मामले की तफ्तीश जारी है। पुलिस यह भी आशंका जता रही है कि बच्ची को किसी जानवर ने अपना निवाला बनाया हो। फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की जांच में जुट गई है। जबकि ग्रामीणों ने पुलिस की थ्योरी को खारिज कर दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि यह किसी जानवर का काम नहीं बल्कि तंत्र-मन्त्र के चक्कर में हत्या का मामला है। बच्ची के शरीर के अंदर के महत्वपूर्ण अंग गायब हैं। ग्रामीणों में आक्रोश को देखते हुए मौके पर पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है। एसपी ग्रामीण बृजेश श्रीवास्तव के मुताबिक बच्ची के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने का इंतजार कर रही है। साथ ही हर पहलू पर जांच जारी है। दोषी को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

 

डिप्टी सीएम ने किया ट्वीट

वहीं इस वारदात पर उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी ट्वीट कर दुख व्यक्त किया। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि कानपुर में 6 साल की मासूम की निर्ममता से हत्या हृदय विदारक है। एक-एक दोषी का पता करके कठोरतम कानूनी कार्रवाई बिना देर किए सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया गया है। ऐसा जघन्य अपराध करने वाले मनुष्य नहीं हिंसक पशु जैसे हैं। मासून के दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

 

Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned