कोरोना से बचाव के लिए 'गोल्डन बाबा' ने घारण किया 101 ग्राम का शिव स्वर्ण मास्क, पांच लाख है कीमत

गोल्डन बाबा ने सोने का मास्‍क विधिवत पूजा-अर्चना के बाद धारण किया है। इस मास्‍क को शिव स्‍वर्ण मास्‍क के नाम से मुंबई के कारीगरों ने खास तौर पर बाबा के लिए डिजाइन किया है। मास्क की कीमत पांच लाख रुपये के करीब बताई गई है।

By: Karishma Lalwani

Published: 23 Jun 2021, 03:00 PM IST

कानपुर. कोरोना की तीसरी लहर (Covid Third Wave) की आशंका के बीच कानपुर के गोल्डन बाबा (Golden Baba) कहे जाने वाले मनोज सेंगर उर्फ मनोजानंद महाराज ने एक ऐसा मास्क धारण किया है, जिसे देखने वाले तक हैरान हैं। 101 ग्राम के सोने से लदा मास्क धारण कर मनोज सेंगर चर्चा का पात्र बन गए हैं। गोल्डन बाबा ने ये मास्‍क विधिवत पूजा-अर्चना के बाद धारण किया है। इस मास्‍क को शिव स्‍वर्ण मास्‍क के नाम से मुंबई के कारीगरों ने खास तौर पर बाबा के लिए डिजाइन किया है। मास्क की कीमत पांच लाख रुपये के करीब बताई गई है।

दो साल तक कोरोना से बचाव

इस मास्क की खासियत उसकी खूबसूरती तक ही सीमित नहीं है। बाबा का दावा है कि मास्क में सैनिटाइजर जेल की कोटिंग है जो कि लगभग दो साल तक कोरोना से बचाव करने में मददगार है। उनका कहना है यह एक कवच की तरह कोरोना से उनकी रक्षा करेगा। उन्होंने वैदिक मंत्रोच्चारण करने के बाद इस शिव स्वर्ण नाम के मास्क को धारण किया। उन्होंने कहा कि सोने की कोई कीमत नहीं होती और जब उससे प्रभु का नाम जुड़ जाए तो वह अमूल्य होता है।

महाभारत सीरियल से लगा सोने का शौक

गोल्‍डन बाबा के इतना वजनदार सोना धारण करने के पीछे की कहानी भी रोचक है। उन्हें सोने का शौक महाभारत सीरियल से लगा। उन्‍होंने यह सीरियल देखने के बाद ढाई सौ ग्राम की चार सोने की चेन बनवा कर पहन ली थी। धीरे-धीरे यह शौक बढ़ता गया। इसके बाद उन्‍होंने सोने का शंख, मछली, हनुमान जी के लॉकेट बनवा कर पहने। गोल्‍डन बाबा अपने गले में करीब दो किलो का सोना भी पहनते हैं। उनके पास कान के स्वर्ण कुंडल, रिवॉल्वर की बट पर सोने का कवर और तीन सोने की बेल्ट भी हैं। वह कई वर्षों से सोना पहन रहे हैं। इस कारण उन्हें कई बार धमकियां भी मिली हैं लेकिन उनका सोना प्रेम कम नहीं हुआ। सुरक्षा के लिए वह अपने साथ दो गनर रखते हैं।

ये भी पढ़ें: वैक्सीन लगवाने में पुरुष महिलाओं से ज्यादा एक्टिव, युवा वर्ग भी आगे

ये भी पढ़ें: कोरोना काल ने छीनी मदरसा शिक्षकों की नौकरी, कोई रिक्शा चलाने तो कोई सब्जी बेचने को मजबूर

Corona virus COVID-19
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned