अब नही चलेगा कोई बहाना, वृक्षारोपण को लेकर शासन ने लिया बड़ा फैसला, रूपरेखा तैयार

अब नही चलेगा कोई बहाना, वृक्षारोपण को लेकर शासन ने लिया बड़ा फैसला, रूपरेखा तैयार

Alok Pandey | Publish: Oct, 13 2018 05:57:31 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 05:57:32 PM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

वृक्षारोपण को लेकर शासन गम्भीर दिख रहा है। सरकार ने अगले वर्ष जुलाई 2019 में वृक्षारोपण के लिये रूपरेखा अभी से तैयार कर ली है और सम्बंधित विभाग को निर्देशित किया गया है।

अरविंद वर्मा

कानपुर देहात-लगातार पर्यावरण का ह्रास होने व पेड़ पौधों की गिरती संख्या को देखते हुए शासन ने अब सख्त रुख अख्तियार किया है। समय का इंतजार न करते हुए अब हरियाली बढ़ाने के लिए पौधरोपण अभियान की रूपरेखा अभी से तय कर ली गयी है, जिससे आगे किसी का कोई बहाना नही चल सकेगा। दरअसल प्रत्येक वर्ष जुलाई में वृक्षारोपण अभियान चलाया जाता है, इसके लिए दिसंबर व जनवरी में दिशा निर्देश दिए जाते थे लेकिन शासन ने जुलाई 2019 में पौधरोपण का लक्ष्य अभी से तय कर दिया है। इससे संबंधित विभाग पौधों की उपलब्धता, गड्ढ़ों की तैयारी और अग्रिम मृदा कार्य की तैयारी में अभी से जुट जाएं। हालांकि इस बार अन्य वर्षों की तुलना में बड़ा लक्ष्य दिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार जुलाई 2019 में कुल 29,64,898 पौधे रोपे जाने हैं। 15 अगस्त को 14,80,640 पौधे रोपे जाएंगे। वन विभाग सहित 25 विभागों को यह लक्ष्य पूरा करना है।

 

इस वर्ष की तुलना में 2019 में बड़ा लक्ष्य

बताया गया कि वन विभाग को कुल 1248430 पौधे लगाने हैं। वहीं ग्राम्य विकास विभाग को 10,88,000 पौधे लगाने का लक्ष्य दिया गया हैं और सबसे कम श्रम विभाग को 3567 पौधे रोपने का लक्ष्य मिला है। इस वर्ष पौधरोपण लक्ष्य की तुलना में अगले वर्ष 1407211 पौधों का लक्ष्य बढ़ाया गया है। इस वर्ष जुलाई में 15,57,687 पौधे लगाने का लक्ष्य मिला था। 15 अगस्त को एक दिन में 6,78,270 पौधे रोपे जाने थे। जिसके सापेक्ष जिले में कुल 17,29,892 पौधे रोपे गए। एक दिन में 15 अगस्त को अभियान के तहत 1333592 पौधे लगाए गए थे।

 

वर्ष 2019 का निर्धारित पौधरोपण लक्ष्य

विभाग - कुल लक्ष्य

वन - 1248430

ग्राम्य विकास - 1088000

राजस्व - 108800

पंचायतीराज - 108800

आवास विकास - 7680

औद्योगिक विकास - 5300

नगर विकास - 24371

लोक निर्माण - 28714

सिंचाई - 26600

रेशम - 5308

कृषि - 32880

पशुपालन - 6650

सहकारिता - 4400

उद्योग - 9086

विद्युत - 5320

माध्यमिक शिक्षा - 43520

बेसिक शिक्षा - 43520

प्राविधिक शिक्षा - 10930

उच्च शिक्षा - 10930

श्रम - 3567

स्वास्थ्य - 10649

परिवहन - 3680

रेलवे - 6652

रक्षा - 4639

उद्यान - 108792

पुलिस - 7680

 

डीएफओ बोले कि

जिला वनाधिकारी ललित कुमार गिरि ने बताया कि पौधरोपण की पूर्व तैयारी में वक्त लगता है। गड्ढे तैयार करने के बाद इनमें अच्छी मिट्टी, बालू, खाद और दवा आदि का मिश्रण भरा जाता है। सरकार ने इस बार काफी समय पूर्व ही लक्ष्य तय किया है। इससे पौधरोपण के स्थल चयन, गड्ढों की खोदाई व अग्रिम मृदा कार्य में सहूलियत होगी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned