IIT के प्रोफेसर अब ऑनलाइन उपलब्ध

IIT के प्रोफेसर अब ऑनलाइन उपलब्ध
IIT Kanpur

Abhishek Gupta | Publish: Jun, 11 2016 11:12:00 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलाजी (आईआईटी) व इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी) प्रोफेसर ने देश भर के छात्रों के लिए 93 नए लेक्चर ऑनलाइन उपलब्ध किए हैं।

कानपुर. आईआईटी के एग्जाम के दौरान कम अंक आने के चलते अगर आपको इंस्टीट्यूट में दाखिला नहीं मिला तो मायूस मत होइये| क्योंकि इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलाजी (आईआईटी) व इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी) प्रोफेसर ने देश भर के छात्रों के लिए 93 नए लेक्चर ऑनलाइन उपलब्ध किए हैं। इंजीनियरिंग, विज्ञान व प्रबंधन के छात्रों तक यह लेक्चर 18 जुलाई से पहुंचेंगे। आईआईटी कानपुर के अलावा दिल्ली व मद्रास समेत अन्य आईआईटी के उन वरिष्ठ प्रोफेसर के लेक्चर शामिल हैं जिनकी एक क्लास छात्रों के लिए ज्ञान सागर होती है। शनिवार को नेशनल प्रोग्राम ऑन टेक्नोलॉजी इनहेंस्ड लर्निग (एनपीटीईएल) की कार्यशाला में यह जानकारी दी गई।

एक हजार लेक्चर ऑनलाइन

ऑनलाइन लेक्चर उन छात्रों का सपना पूरा करेंगे जो इस इंस्टीट्यूट का हिस्सा नहीं हैं। बीते वर्षों में बीटेक, एमबीए व साइंस के छात्रों के लिए एक हजार लेक्चर ऑनलाइन किए जा चुके हैं। कार्यशाला में प्रमुख सचिव प्राविधिक शिक्षा मुकुल सिंघल ने
कहा कि कभी छात्रों के लिए विज्ञान व तकनीकी विषयों के वरिष्ठ प्रोफेसरों की कक्षा में पढ़ना एक सपना हुआ करता था, आज इस सपने को आनलाइन लर्निग ने पूरा कर दिया है। छात्रों को न केवल पढ़ने बल्कि उनसे ऑनलाइन सवाल जवाब करने का मौका भी मिल रहा है। आनलाइन लेक्चर को और दिलचस्प बनाए जाने की दिशा में अभी भी काम किए जाने की जरूरत है।

सूबे के सभी कॉलेज के छात्रों तक पहुंचेंगे लेक्चर

डा. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विनय पाठक ने कहा कि ये लेक्चर प्रदेश के सभी इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट कॉलेज के छात्रों तक पहुंचाए जाएंगे। इसके लिए विश्वविद्यालय प्रशासन सभी कॉलेजों को मुफ्त सीडी मुहैया कराएगा। वर्तमान में 40 कॉलेज ऑनलाइन एजुकेशन से जुड़े हुए हैं जबकि जिन कॉलेजों में आनलाइन लर्निग से संबंधित उपकरण हैं उन्हें इस साल इससे जोड़ दिया जाएगा। भविष्य में इसका लाभ प्रदेश में संचालित करीब सात सौ तकनीकी व प्रबंधन कॉलेजों के लाखों छात्रों को मिलेगा।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned