माघ में मेघों ने लगाई सावन की झड़ी, 58 मिमी बारिश से छूटी कंपकपी

पश्चिमी विक्षोभ के चलते कानपुर के अलावा यूपी के जिलों में बुधवार रात से ही बारिश होने का सिलसिला जारी है, सीएसए के मोसम विभाग ने 17 से लेकर 19 जनवरी तक बारिश का अलर्ट जारी किया है।

कानपुर। पिछले 36 घंटे से कानपुर के अलावा आसपास के जिलों में हो रही तेज बारिश ने जनजीवन को बुरी तरह से प्रभावित किया है। माघ का माह सावन की तरह दिख रहा है और बारिश की झड़ी लगी हुई है। जिसके चलते पारा लुड़कने से ठिठुरन बढ़ी और लोग सुबह से अपने घरों में दुबके हुए हैं। बाजारों में सन्नाटा पसरा है तो ट्रेन, बस और हवाई सेवाएं पूरी तरह से लड़खड़ा गई हैं। सीएसए के मौसम विभाग के मुताबिक अभी तक कुल 57.2 मिली बारिश रिकार्ड की गई है। अभी एक सप्ताह का आसमान में बादल छाए रहेंगे। 17 व 19 जनवरी को बारिश होने के आसार हैं।

बुधवार से जारी है बरसात
बारिश का सिलसिला यूं तो बुधवार से ही शुरू हो गया था लेकिन रात से सुबह तक अनवरत बारिश होती रही। सुबह जब लोग घरों से बाहर निकले तो उनका स्वागत बारिश और सर्द हवाओं के साथ हुआ। बारिश और सर्द हवाओं ने ठिठुरन को और बढ़ा दिया है। घरों में लोग जहां रजाईयों में दुबके रहे वहीं सरकारी कार्यालयों में हीटर और ब्लोअर धड़ाधड़ जलते रहे। सीएसए के मौसम वैज्ञानिक डाॅक्टर नौशाद खान के मुताबिक बारिश होन के कारण पारे में गिरावट दर्ज की गई है। गुरूवार को अधिकतम तापमान 15.6 ( - 4.0) तो वहीं न्यूनतम तापमान 14.4 ( 7.1) डिग्री सेल्सियस रहा। जबकि अधिकतम आर्द्रता 98, न्यूनतम आर्द्रता 96 प्रतिशत रही। हवाएं 3.8 किमी प्रतिघंटे के तहत चल रही हैं।

पश्चिमी विक्षोभ बनीं वजह
डाॅक्टर नौशाद खान ने बताया कि यदि पिछले 10 वर्षों की बात करें तो जनवरी में यह तीसरी सबसे ज्यादा बारिश है। डाॅक्टर खान के मुताबिक यह बदलाव पश्चिमी विक्षोभ के चलते आया है। दरअसल, केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के पास एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है, जो इस समय सक्रिय है। इस विक्षोभ के चलते पश्चिमी उत्तर प्रदेश के साथ ही अन्य राज्यों में बारिश हो रही है। डाॅक्टर खान के मुताबिक अभी बारिश के साथ ही कानपुर के अलावा अन्य इलाकों ओले गिर सकते हैं।

बढ़ सकती है ठंड
कानपर में हो रही बारिश के चलते मौसम विभाग का अनुमान है कि इससे तापमान में गिरावट होगी और ठंड में भी इजाफा हो सकता है। डाॅक्टर खान के मुताबिक, 15 जनवरी से शुरू हुई हल्की व तेज बारिश के 19 जनवरी तक जारी रहने का अनुमान है। डाॅक्टर खान बताते हैं कि पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी और बारिश के कारण वहां से बर्फीली हवाएं मैदानी क्षेत्रों में आ रही है और इसी के चलते सर्दी बढ़ गई है। जब तक हवाओं की दिशा नहीं बदलती तब तक ठंड से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।

Show More
Vinod Nigam
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned