गैंगरेप के बाद पीड़िता की मौत के बाद दरोगा पर गिरी गाज, विधायिका की बात सुन चौंक गए लोग

राजनैतिक पार्टियों के नेता गांव पहुच पीड़ित परिवार से मिलकर उनको सांत्वना देने पहुंच रहे हैं।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 08 Dec 2019, 11:01 PM IST

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर देहात-इस समय गैंगरेप के बाद हत्या व आत्महत्या की घटनाओं से उत्तर प्रदेश सुलग रहा है। एक के बाद एक घटना होने से लोगों में आक्रोश व्याप्त है। उन्नाव घटना के बाद कानपुर देहात के रूरा में पुलिस की लापरवाही और आरोपियों के आतंक से परेशान होकर गैंगरेप पीड़िता द्वारा बीते एक दिन पूर्व कानपुर नगर में अपने रिश्तेदार के घर पर एक पीड़िता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। जिसके बाद लोगो का आक्रोश फूट पड़ा। साथ ही राजनीति गरमा गई है। जिसको देखते हुए राजनैतिक पार्टियों के नेता गांव पहुच पीड़ित परिवार से मिलकर उनको सांत्वना देने पहुंच रहे हैं। वहीं पीड़ित परिवार रूरा थाना पुलिस से लेकर अकबरपुर सीओ को निलंबित करने की मांग कर रहे हैं।

इसी के चलते अकबरपुर-रनिया से भाजपा विधायक प्रतिभा शुक्ला भी अपनी ही विधानसभा में गैंगरेप के बाद पीड़ित परिवार के घर पहुंची। मामले में पुलिस द्वारा कई दिनों तक मुकदमा न लिखने और अभियुक्तों की गिरफ्तारी न होने के चलते नाबालिक किशोरी द्वारा आत्महत्या करने के मामले पर विधायिका प्रतिभा शुक्ला ने नाबालिक किशोरी के साथ गैंगरेप की जानकारी पर अनिभिज्ञता जताई। उन्होंने कहा कि दोषी सब इंस्पेक्टर और एक सिपाही को निलंबित कर दिया गया है। बावजूद इसके द्रवित परिजनों से विधायिका जी ने राय जानना मुनासिफ नही समझा। हालांकि आस पड़ोस व अन्य लोग पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाते दिखाई दिए।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned