नोटबंदी के बाद जमा हुई रकम की जांच करेगा आयकर विभाग

नोटबंदी के बाद जमा हुई रकम की जांच करेगा आयकर विभाग

Alok Pandey | Updated: 17 Aug 2019, 02:01:57 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

१७ बिंदुओं पर की जाएगी जमा और कारोबार की जांच
नोटबंदी से पहले एक साल का ब्यौरा भी जांचा जाएगा

कानपुर। नोटबंदी के दौरान नौकरों और मित्रों के जरिए कालेधन को सफेद करने वालों पर शिकंजा कसने की तैयारी है। अब आयकर विभाग खातों का पिछला लेनदेन जांचेगा और जिन खातों में नोटबंदी के दौरान अचानक बड़ी रकम जमा हुई है उसका स्रोत भी देखेगा। आयकर विभाग यह जांच बेहद बारीक स्तर पर करेगा, जिसमें जमाकर्ता किसी भी तरह की बहानेबाजी करके नहीं बच सकेगा।

हमेशा न्यूनतम बैलेंस वाले खाते भर गए
आठ नवंबर २०१६ को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की तो चमत्कार हो गया। वर्षों से जो खाते न्यूनतम बैलेंस के लिए भी तरस रहे थे, अचानक उनमें बड़ी रकम जमा होने लगी। पांच से दस हजार रुपया महीना वेतन पाने वाले के खाते में भी ४० से ४५ हजार रुपए जमा होने लगे और वह भी बार-बार। आयकर की लिमिट ढाई लाख की थी, इसलिए इन इतनी रकम जमा कराई गई।

कमीशन के नाम पर हुई कमाई
नोटबंदी ने कालाधन दबाए बैठे लोगों के पसीने छुड़ा दिए थे पर गरीबों की खूब कमाई हुई। लोगों ने अपने नौकर, माली, ड्राइवर और यहां तक कि आसपास के स्थाई सब्जी और चाय की दुकान लगाने वालों के बैंक खातों का भी इस्तेमाल किया और इसके बदले में उन्हें १० से १५ प्रतिशत तक कमीशन दिया। इसके चलते इन लोगों की चांदी हो गई और खुशी-खुशी गरीबों ने अपने बैंक खातों के दस्तावेज इन सेठों को थमा दिए।

अब १७ बिंदुओं पर होगी खातों की जांच
आयकर विभाग अब १७ बिंदुओं पर उन सभी खातों की जांच करेगा, जिनमें नोटबंदी के बाद बड़ी रकम जमा हुई है। जिसमें जमा और आय का तुलनात्मक अध्ययन किया जाएगा। नोटबंदी के पहले दो साल तक का खातों का लेनदेन भी जांचा जाएगा। खातों में अचानक जमा हुई बड़ी रकम का स्रोत भी खातेदार से पूछा जाएगा। इसके अलावा टैक्स देने वालों की भी जांच होगी। जमाकर्ता की रकम और कारोबार की भी पड़ताल की जाएगी।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned