राष्ट्रपति की भाभी और पुत्रवधू ने नगर पालिका परिषद चुनाव के लिए जताई दावेदारी

राष्ट्रपति की भाभी और पुत्रवधू ने नगर पालिका परिषद चुनाव के लिए जताई दावेदारी
indian president familly

Shatrudhan Gupta | Updated: 26 Oct 2017, 06:40:07 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

झींझक से भाजपा से टिकट के लिए अब तक हुए नौ आवेदनों में दो राष्ट्रपति परिवार के हैं।

कानपुर देहात. इस बार यूपी नगर निगम चुनाव में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के परिजन भी ताल ठोकने जा रहे हैं। झींझक नगर पालिका परिषद की चेयरमैन सीट अनुसूचित वर्ग महिला के लिए आरक्षित होने के बाद झींझक में ही रहने वाले राष्ट्रपति रामनाथ कोविद के परिवार से दो लोगों ने भाजपा से आवेदन कर लोगों को उहापोह में डाल दिया है। 13 अक्टूबर की रात आरक्षण सूची में झींझक सीट अनुसूचित वर्ग महिला के लिए आरक्षित होते ही राष्ट्रपति के नजदीकी लोगों ने राष्ट्रपति की भाभी विद्यावती को चुनाव मैदान में उतरने के लिए प्रेरित किया था। वहीं, दूसरे दावेदार भी टिकट पाने के लिए जुगाड़ बैठाने लगे हैं।

अब तक हुए नौ आवेदनों में दो राष्ट्रपति परिवार के

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की भाभी विद्यावती की पुत्री हेमलता ने बताया कि झींझक नगर पालिका परिषद की चेयरमैन सीट अनुसूचित वर्ग महिला के लिए आरक्षित होने के बाद क्षेत्र के कुछ संभ्रांत लोगों ने मां को चुनाव मैदान में उतरने के लिए प्रोत्साहित किया। इसके बाद उन्होंने परिवार में चर्चा की, फिर मंगलवार को झींझक भाजपा चुनाव प्रभारी देवेश के पास आवेदन कर दिया। मामला उस समय पेंचीदा हो गया, जब इसी परिवार की दूसरी महिला व रामनाथ कोविंद के भाई प्यारेलाल की पुत्रवधू दीपा ने भी भाजपा से टिकट के लिए आवेदन कर दिया। झींझक से भाजपा से टिकट के लिए अब तक हुए नौ आवेदनों में दो राष्ट्रपति परिवार के हैं। अब लोगों में असमंजस है कि वे फिलहाल किसके साथ जाएं?

टिकट के लिए कई बड़े भाजपा नेताओं से मुलाकात

विद्यावती की पुत्री हेमलता ने बताया कि यदि भाजपा का चुनाव निशान मिला तभी मां चुनाव लड़ेंगी। परिवार में एक ही सदस्य के लडऩे पर भी बातचीत चल रही है। हेमलता के अनुसार उनका यह भी प्रयास है कि अन्य दावेदारों से भी खुले मंच पर वार्ता हो और यदि झींझक में निर्विरोध निर्वाचन हो तो विकास के लिए प्रदेश सरकार नगर पालिका को अतिरिक्त धन मुहैया कराएगी। बताया जाता है कि विद्यावती की पुत्री हेमलता ने मां को टिकट दिए जाने के लिए भाजपा के कई बड़े नेताओं से भी मुलाकात की है।

नगर पंचायत के 100 साल पूरे हुए

अबतक नगर पंचायत के 100 साल पूरे होने पर राज्य शासन ने झींझक को नगर पालिका परिषद का दर्जा दिया है। मौजूदा नगर निकाय चुनाव में पहली बार नगर पालिका परिषद का चुनाव होगा। लगभग 24 हजार की आबादी वाले झींझक नगर पंचायत 100 साल पूरे कर चुकी है। राजकुमार यादव निवर्तमान चेयरमैन हैं। इस बार नगर पालिका परिषद के लिए पहले चेयरमैन का चुनाव होगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned