कानपुर के दमाद हैं गवास्कर, मेहमानवाजी के कायल लक्ष्मण

कानपुर के दमाद हैं गवास्कर, मेहमानवाजी के कायल लक्ष्मण
Sunil Gavaskar

Shatrudhan Gupta | Updated: 28 Oct 2017, 10:47:21 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

भारत और न्यूजीलैंड की टीमें दो दिन पहले शहर आ गई थी, वहीं अब पूर्व खिलाड़ियों ने यहां ढेरा जमा लिया है।

कानपुर. भारत और न्यूजीलैंड की टीमें दो दिन पहले शहर आ गई थी, वहीं अब पूर्व खिलाड़ियों ने यहां ढेरा जमा लिया है। टीवी पर कमेंट्रेटर की भूमिका निभाने वाले तीन दिग्गज क्रिकेटर सुनील गवास्कर, वीरेंद्र सहवाग और वीवी लक्ष्मण होटल पहुंचे। यहां इनका होटल प्रबंधक ने जोरदार स्वागत किया। इस मौके पर जब गवास्कर से पूछा गया कि वे अपने मुस्कुरा कर बोले कि अभी ससुराल जाने का अभी तो कोई इरादा नहीं है। भाई मैं कनपुर का दमाद हूं और कानपुर के लोग मेरे रिश्तेदार। वहीं कलई के जादूगर लक्ष्मण ने कानपुर के पक्ष में खूब कसीदे पढ़े। लक्ष्मण ने कहा कि यहां के दर्शक जिस तरह से खिलाड़ियों की हौफलाजाई करते हैं, उसे जुबां से बयां नहीं कर सकता।

1974 में गवास्कर हुई थी शादी

ग्रीनपार्क मैच में टीवी की कमेंट्री करने के लिए सुनील गवास्कर, वीरेंद्र सहवाग और वीवी लक्ष्मण कानपुर के होटल पहुंचे। कानपुर से भारत के पूर्व कैप्टन सूनील गवास्कर का नाता दिल से है, क्योंकि यहीं की बेटी से उनका दिल मिला और फिर दोस्ती हुई। दोस्ती प्यार में बदली और वह दिन भी आ गया जब दोनों एक धागे में बंध गए। सुनील गवास्कर की शादी 23 सितंबर 1974 को लेदर इंड्रस्ट्रलिस्ट की बेटी मार्शनील मेहरोत्रा से हुई थी। वैसे गवास्कर के ससुराल के अधिकतर सदस्य अब यहां नहीं रहते। गवास्कर का ***** दिल्ली में कारोबार करते हैं।

जब बोले कैसे हो गुरू, हंस पढे वीरू

होटल के बाहर लॉन पर सुनील गवास्कर के साथ बात कर रहे सहवाग पर जब लोगों की नजर पड़ी तो उन्होंने गवास्कर-गवास्कर कहने लगे। तभी गवास्कर ने भी अपने अंदाज में कहा कैसे हो गुरू, परिवार मजे में। गवास्कर बात सुनकर सहवाग हंस पढ़े तो वहीं उन्हें देख रहे लोग भी ठहाका मारकर कहा ठीक हैं जीजू। इस मौके पर गवास्कर से मिलने के लिए कई कानपुर के मित्र होटल पहुंचे। गवास्कर ने उनके साथ बैठकर बातचीत की। वहीं होटल के आसपास सुरक्षा व्यवस्था कड़ी थी। सुबह के वक्त गवास्कर ग्रीनपार्क जाएंगे।

... और क्रिकेट के दिवाने होते है कनपुरिए

भारतीय क्रिकेट टीम के टेस्ट टीम के पूर्व खिलाड़ी लक्ष्मण ने कहा, उत्तर प्रदेश के गंगा किनारे बने स्टेडियम की सुन्दरता में चार-चांद लगा देता है। यहां का मौसम काफी सुहाना है। जो डे-नाइट मैच के आनन्द को बढ़ाता है। यूपी के दर्शक काफी जोशीलें और क्रिकेट के दिवाने होते है। इसके साथ ही सीरीज के निर्णायक मैच के चलते यहां पर कमेंट्री करना में लुफ्त कुछ ओर होगा। कमेंट्री बाक्स में व्यवस्थाएं काफी बेहतर है और ग्रीनपार्क स्टेडियम में अन्तर्राष्ट्रीय मैच में कमेंट्री करना का अलग ही बात है। बल्लेबाजों के चौके-छक्के के साथ मैदान व टीवी पर मैच देखने वालों को कमेंट्री का भी मजा आएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned