scriptIndustrialist demand change Kanpur dehat name, memorandum to Rakesh Sa | तो अब "कानपुर देहात" का नाम "ग्रेटर कानपुर" करने की तैयारी, योगी के मंत्री ने कहा | Patrika News

तो अब "कानपुर देहात" का नाम "ग्रेटर कानपुर" करने की तैयारी, योगी के मंत्री ने कहा

कानपुर प्रोविंशियल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने कानपुर देहात जिले का नाम बदलने की मांग की है। योगी शासन में मंत्री राकेश सचान को दिए ज्ञापन में यह मांग की है। उद्यमियों ने कहा कि देहात शब्द से पिछड़ेपन का एहसास होता है। इसके लिए उन्होंने नाम भी सुलाया है। मंत्री राकेश सचान ने आश्वासन दिया कि मुख्यमंत्री के सामने मामला रखेंगे।

कानपुर

Published: July 24, 2022 06:59:37 pm

अब कानपुर देहात का नाम बदलने की मांग उठ रही है। लोगों का मानना है कि कानपुर देहात के नाम से पिछड़ेपन का एहसास होता है। गांव का एहसास कराता है। देहात हटाकर ग्रेटर रखा जाए और कानपुर देहात को कानपुर ग्रेटर के नाम से जान आ जाए। यह मांग कानपुर देहात के उद्यमियों ने बीजेपी विधायक व योगी शासन में मंत्री राकेश सचान से की है। इसके पहले भी कानपुर देहात का नाम बदलने की मांग उठ चुकी है। विधायक ने उद्योगपतियों की मांग को मुख्यमंत्री के सामने रखने का आश्वासन दिया है।

तो अब "कानपुर देहात" का नाम "ग्रेटर कानपुर" करने की तैयारी, योगी के मंत्री ने कहा

कानपुर प्रोविंशियल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने आज योगी शासन में मंत्री राकेश सचान से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने अपनी मांगों को रखा। उद्यमियों का कहना था कि कानपुर देहात जिले का नाम सुनते ही पिछड़ेपन का एहसास होता है। उन्होंने कहा कि यहां पर अधिकारी भी यहां आने से घबराते हैं। कानपुर देहात अपने आप में पिछड़ेपन का एहसास कराता है। उद्यमियों को "कानपुर देहात" के 'देहात' शब्द से आपत्ति है। उन्होंने इसे ग्रेटर के नाम से रखने की मांग की।

यह भी पढ़ें

अग्निवीरों के लिए इंतजार खत्म: भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आज 24 जुलाई को एयर फोर्स अग्निवीर परीक्षा

कानपुर जिले का 1981 में विभाजन हुआ था। जब कानपुर जिले को कानपुर नगर और कानपुर देहात में बांटा गया था। जिसके बाद से "कानपुर देहात" का मुख्यालय "अकबरपुर के माती" में बनाया गया। 1 जुलाई 2010 को कानपुर देहात का नाम "रमाबाई नगर" रखा गया था। लेकिन 2012 को इसका नाम एक बार फिर "कानपुर देहात" कर दिया गया। एक बार फिर कानपुर देहात के नाम को बदलने की की आवाज उठने लगी है। इस बार उद्यमियों की तरफ से यह आवाज उठाई गई है। इस मामले में योगी शासन के मंत्री राकेश सचान ने कहा कि वह इस प्रकरण को मुख्यमंत्री के सामने उठाएंगे। ज्ञापन देने वालों में प्रांतीय अध्यक्ष मनोज बंका, मिथिलेश गुप्ता, निखिल कपूर, सूर्यभान पटेल, बृजेश अवस्थी, प्रवीण शर्मा आदि शामिल थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

अरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेMaharashtra Cabinet Expansion: कल हो सकता है शिंदे मंत्रिमंडल का विस्तार, CM आवास पहुंचे देवेंद्र फडणवीस'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारीगालीबाज भाजपा नेता पर रखा गया 25 हजार का इनाम, 40 टीमें तलाश में जुटीShirdi Flood: शिरडी में भारी बारिश से हाहाकार, सरकारी विश्राम गृह और साईं प्रसादालय पानी में डूबा, देखें तस्वीरेंझारखंडः जमशेदपुर में माता-पिता की हत्या कर 13 साल की बेटी हुई फरार, खून से सने लाश के साथ हथौड़ा भी बरामदखाटूश्यामजी हादसा: दो शवों की भी हुई शिनाख्त, पीएम मोदी ने जताया दुख, सीएम ने की जांच व मुआवजे की घोषणाMaharashtra Coal Scam: दिल्ली कोर्ट का फैसला- पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता को 3 और कंपनी डायरेक्टर को 4 साल की जेल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.