कपड़ा व्यापारी के प्रतिष्ठानों में आईटी की रेड, बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी, कई दस्तावेज किए जब्त

कपड़ा व्यापारी के प्रतिष्ठानों में आईटी की रेड, बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी, कई दस्तावेज किए जब्त

Nitin Srivastva | Publish: Mar, 14 2018 11:21:02 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

आईटी की टीम ने मंगलवार को जेजे साड़ी, विजय ब्रदर की फर्मों पर एक साथ छापेमारी की...

कानपुर. आईटी की टीम मंगलवार को जर्नलगंज के कपड़ा व्यापारी के घर और सात अन्य ठिकानों में रड मारी, जिसके चलते पूरे बाजार में हड़कंप मच गया। आईटी की टीम ने व्यापारी के ठिकानों से लाखों की कर चोरी पकड़ने के साथ कई दस्तावेज जब्त किए हैं। टीम के अधिकारियों ने व्यापारी से पूछताछ की। खबर लिखे जाने तक आईटी की कार्रवाई जारी है।


करोड़ों की कर चोरी पकड़ी

आईटी की टीम ने मंगलवार को जेजे साड़ी, विजय ब्रदर की फर्मों पर एक साथ छापेमारी की। यह कार्रवाई कानपुर के अलवा यूपी के अन्य जिलों में भी हुई। टीम के अधिकारियों को व्यापारी के घर के अलावा सात अन्य ठिकानों से बड़े पैमाने पर कर चोरी पकड़ी। आईटी की टीम ने व्यापारी के साथ उनके परिजनों के मोबाइल नंबर बंद करवा दिए और एक कमरे में ले जाकर पूछताछ की। व्यापारी के घर से करोड़ों रूपए की करेंसी भी मिलने की खबर है। आईटी व्यापारी से पैसे और जेवरात के बारे में जानकारी कर रही है। आईटी के अफसरों की मानें तो व्यापारी पर लंबे समय से कर चोरी करने के प्रमाण मिले हैं। आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार व्यापारी के आयकर रिटर्न में साल दर साल मुनाफा या कारोबार में गिरावट की बजाय स्थिरता बनी रही, जबकि इस उद्यमी का कोराबार प्रारंभिक जांच में करोड़ों का है।


नोटबंदी के चलते फंसा व्यापारी

आईटी की जानकारी मिली थी कि व्यापा ने नोटबंदी के दौरान करोड़ों रुपये जमा किए, जो उसके आयकर रिटर्न से मेल नहीं खाते। जांच के दौरान कारोबारी के बैंक, निवेश संबंधी काजगात, उद्यमी के पर्सनल और ऑफिस के कम्प्यूटरों को जब्त कर लिया गया है। व्यापारी का कानपुर के अलावा बनारस, इलाहाबाद, मेरठ, लखनऊ सहित कई अन्य शहरों में कपड़े का थोक का कारोबार है। सूत्रों की मानें तो व्यापारी ने नोटबंदी के दौरान बड़े पैमाने पर पुराने नोट बैंक में जमा कराए। आईटी ने कईबार नोटिस देकर जवाब मांग, लेकिन व्यापारी का कानों में जूं नहीं रेंगी। इसी के बाद आइटी की टीम व्यापारी के प्रतिष्ठानों में रेड मारी।

Ad Block is Banned