ऐसे जीजाओं से भगवान बचाए, पहले किया रेप और फिर...

 वह चार दिनों तक बंधक बनाकर रेप करता रहा। जब महिला ने इसका विरोध किया तो उसने सिर के बाल काट दिए और उसकी जमकर पिटाई की, साथ ही महिला के प्राइवेट पार्ट्स को भी चोट पहुंचाई।

By: आकांक्षा सिंह

Published: 03 Sep 2016, 04:03 PM IST

कानपुर। जिले में आए दिन दुष्कर्म की खबरें देखने को मिल रहीं हैं। ऐसी ही एक खबर सामने आई हैं जिसमें जीजा ने साली के साथ दुष्कर्म किया और विरोध करने पर धमकी देते हुए महिला के साथ जबरदस्ती की। वह चार दिनों तक बंधक बनाकर रेप करता रहा। जब महिला ने इसका विरोध किया तो उसने सिर के बाल काट दिए और उसकी जमकर पिटाई की, साथ ही महिला के प्राइवेट पार्ट्स को भी चोट पहुंचाई।

ये था मामला 
पनकी थाना क्षेत्र में रहने वाले कपिल (काल्पनिक नाम) प्राइवेट नौकरी कर अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं। परिवार में पत्नी रश्मि (काल्पनिक नाम) और एक चार साल का बेटा है। रश्मि का जीजा संजय प्रापर्टी डीलर का काम करता है और वह अय्याश प्रवृत्ति का है। पीड़ि‍ता रश्मि के मुताबिक बीते 28 अगस्त को संजय घर आया था। रश्मि की तबियत ठीक नहीं थी तो संजय ने कहा 'बाजार चलो तुम्हें डाक्टर को दिखाकर दवा दिला दूं। मैं बच्चे को साथ लेकर जीजा के साथ चली गई, लेकिन वह मुझको जबरदस्ती बस में बैठाकर बहन के घर ले जाने की जिद करने लगाl' बहन के घर की जगह उसने किसी अंजान जगह ले जाकर एक कमरे में बंद कर दिया और बच्‍चे को बहला फुसलाकर बहन के घर छोड़ दिया।
रश्मि के मुताबिक सबके जाने के बाद संजय ने रेप करने की कोशिश की। जब रश्मि ने इसका विरोध किया तो उसने डंडे से पिटाई की और प्राइवेट पार्ट पर चोट पहुंचाई। साथ ही कहने लगा 'तुम मेरी नहीं हो सकती तो किसी की नहीं होगी।' ब्लेड निकाल कर सिर के बाल मुंडवा दिए। रश्मि के मुताबिक, संजय कहता था, 'तुम्हारी बहन मुझे अच्छी नहीं लगती है, मैं तुमसे शादी करना चाहता हूं।'

rape


फ़ोन पर दी किडनेपिंग की सूचना 
पीड़िता के मुताबिक एक दिन संजय बाहर गया था, लेकिन वह अपना मोबाइल कमरे में भूल गया। मोबाइल से मैंने अपने पति को फोन कर पूरा हाल बताया। तब उन्होंने मुझे उसके चंगुल से छुड़ाया। रश्मि के पति कपिल ने बताया कि 28 अगस्त को ड्यूटी से लौट कर आया तो घर में ताला लगा हुआ था। पड़ोसियों से पूछा, लेकिन किसी को कुछ नहीं पता था। रश्मि और बेटे को दिन-रात सभी रिश्तेदारों के घर में ढूंढता रहा, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। जब रश्मि का फोन आया तो उसने बताया कि संजय ने उसे अपनी बहन के घर के पास एक कमरे में बंद करके रखा है। इस फोन के बाद रिश्तेदारों को लेकर संजय के घर पंहुचा तो वह मिल गया। उसकी पिटाई की तो उसने बताया कि रश्मि को घर के पास के एक सूनसान जगह पर बने कमरे में रखा है।



पुलिस कर रही है छिपाने का प्रयास
कपिल ने बताया कि पनकी पुलिस इस मामले को लगातार छिपाने के प्रयास में जुटी रही, लेकिन जब यह मामला मीडिया में आया तो फौरन पीड़ि‍ता को मेडिकल के लिए भेजा। पनकी थानाध्यक्ष आशीष मिश्रा के मुताबिक, आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उसकी तलाश की जा रही है साथ पीड़ि‍ता का मेडिकल भी कराया गया है।
Show More
आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned