मौत को लगे लगाने से पहले छात्रा ने ली सेल्फी, गंगा में छलांग लगा खत्म कर ली जिंदगी

Vinod Nigam | Publish: Sep, 07 2018 10:08:42 PM (IST) | Updated: Sep, 07 2018 10:08:43 PM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

चौबेपुर निवासी शिल्पी ने गंगा में ली जलसमाधि, पांच घंटे के बाद भी गोताखोर नहीं खोज पाए शव

कानपुर। बिठूर और उन्नाव को जोड़ने वाले गंगा के परियर घाट में शुक्रवार को दिलदहला देने वाली घटना हुई। यहां एक छात्रा स्कूटी पर सवार होकर पहुंची और घाट के कई चक्कर लगाए। स्कूटी खड़ी कर छात्रा ने मोबाइल के जरिए सेल्फी ली और उसे किसी को पर्सनल में पोस्ट करने के बाद गंगा में छलांग लगा दी। छात्रा के गंगा में कूदने की खबर से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। सूचना पर बिठूर पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन मामला उन्नाव का होने के चलते वो वहां से चली गई।

स्कूटी पर सवार होकर पहुंची घाट
चैबेपुर के ग्राम आलमपुर रहने वाले शिव कुमार यादव की पुत्री शिल्पी (24) नारामऊ स्थित आईटीआई का छात्रा थी। शुक्रवार की सुबह शिल्पी घर से आईटीआई के लिए स्कूटी पर सवार होकर निकली थी। लेकिन संस्थान जाने के बजाए उसने स्कूटी का हैंडिल परियर की तरफ मोड़ दिया। घाट से कुछ दूरी पर छात्रा ने रूक कर एक दुकान से कोल्ड ड्रिन्क ली और उसे पीने के बाद कुछ देर आराम किया। फिर स्कूटी स्टार्ट कर वो परियर की तरफ बढ़ चली। घाट में पहुंचने के बाद छात्रा स्कूटी के जरिए कई चक्कर लगाए। कुछ लोगों ने छात्रा को रोका तो वो स्कूटी को पुल के बीचों-बीच खड़ी कर जेब से मोबाइल निकाला। छात्रा ने उफनाई गंगा के कई फोटो और सेल्फी लिए। अपने किसी करीबी को फोटो पोस्ट करने के बाद छात्रा एकाएक गंगा में छलांग लगा दी।

उन्नाव पुलिस ने चलाया ऑपरेशन
सूचना मिलते ही बिठूर पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन सीमा विवाद के चलते वो वहां से चली गई। कुछ देर के बाद उन्नाव के सफीपुर थाने की पुलिस गोताखोरों के साथ आई। पुलिस ने गोताखोरों को नदी में उतारा और देरशाम तक छात्रा के शव की तलाश की, लेकिन लाश हाथ नहीं लगी। पुलिस ने अंधेरा होने के चलते रेस्क्यू ऑपरेशन बंद कर दिया। पुलिस ने पुल से स्कूटी जिसका नम्बर यूपी 78 सीके 1947 है के अलावा कार्ड व आधार व पर्स बरामद किया है। आधार कार्ड के जरिए मृतका की शिनाख्त पुलिस ने की और उसके परिजनों को जानकारी दी। परिजन परियर घाट पहुंचे और अपनी बेटी के शव को बाहर निकालने के लिए पुलिस से फरियाद की। पूरे मामले की तफ्तीश उन्नाव पुलिस कर रही है।

आईआईटी के लिए निकली थी बेटी
मृतका के पिता ने बताया कि बेटी पढ़ाई करने के लिए आईआईटी आई हुई थी। वो अपनी क्लास में गई, पर कुछ देर के बाद वहां से लापता हो गई। शाम को उसके गंगा में छलांग लगाए जाने की खबर मिली। मृतका के पिता ने बताया कि बेटी पढ़ाई-लिखाई में अव्वल थी। उसे हमने इसी साल नई स्कूटी खरीद कर दी थी। पिता का आरोप है कि बेटी सुसाइड नहीं कर सकती। किसी ने उसे जरूर गंगा में फेंका है। मृतका के पिता ने बताया कि वो सफीपुर पुलिस को तहरीर देगा और पूरे मामले की जांच कराए जाने की मांग करेगा। वहीं सफीपुर इंस्पेक्टर ने बताया कि छात्रा का शव नहीं मिल पाया है। सुबह फिर से शव को खोजा जाएगा। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

Ad Block is Banned