कानपुर मुठभेड़: ढहाया गया विकास दुबे का घर, मुखबिरी के शक में चौबेपुर थाना प्रभारी निलंबित, गैंगस्टर को तलाश रहीं 100 टीमें

- Kanpur Encounter : नेपाल बॉर्डर पर अलर्ट, जगह-जगह चस्पा मुख्य अभियुक्त की तस्वीरें
- 35 पर एफआईआर, संदिग्धों से पूछताछ कर रही एटीएस, फरार मुख्य अभियुक्त Vikas Dubey की तलाश जारी

By: Hariom Dwivedi

Updated: 04 Jul 2020, 10:58 PM IST

कानपुर. कानपुर एनकाउंटर (Kanpur Encounter) का मुख्य अभियुक्त विकास दुबे (Vikas Dubey) फरार है। उसकी तलाश में पुलिस की 100 टीमें अलग-अलग इलाकों में दबिश दे रही हैं। हर संभावित ठिकाने पर पुलिस रेड कर रही है। नेपाल भागने की आशंका को देखते हुए बॉर्डर पर चौकसी तेज कर दी गई है। पूरा गांव छावनी में तब्दील है। विकास के घर के पास किसी के भी आने-जाने पर रोक है। शनिवार को बिठूर के बिकरू गांव में गैंगस्टर के किलेनुमा घर को ध्वस्त कर दिया गया। घर में खड़े ट्रैक्टर और दो एसयूवी कारों को भी तोड़ दिया गया। जिला प्रशासन ने विकास के घर को उसी जेसीबी से नेस्तनाबूत किया, जिससे पुलिस (UP Police) का रास्ता रोका गया था। उधर, मुखबिरी के शक में चौबेपुर के थानाध्यक्ष विनय कुमार तिवारी को सस्पेंड कर दिया गया है। एसटीएफ (STF) उनसे पूछताछ कर रही है। अन्य पुलिसकर्मियों की भूमिका की भी जांच की जा रही है। 12 संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। मामले में अब तक मुख्य अभियुक्त विकास यादव सहित 35 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, मोबाइल कॉल डिटेल के आधार पर संदिग्धों को ट्रेस किया जा रहा है। उन लोगों की लिस्ट भी तैयार की जा रही है, जिन्होंने पिछले 24 घंटे में गैंगस्टर से फोन पर बात की थी। करीब 250 नंबरों को सर्विलांस पर लिया गया है। इनमें कुछ पुलिस वालों के नंबर भी हैं। इसलिए आशंका जाहिर की जा रही है कि जब पुलिस की टीम विकास दुबे से पूछताछ के लिए निकली थी तो किसी ने फोन कर इस बात की जानकारी पहले ही दे दी।

मामले में चौबेपुर थानाध्यक्ष की संदिग्ध भूमिका को देखते हुए उन्हें निलंबित कर दिया गया है। अपुष्ट सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक, गैंगस्टर के घर पर दबिश वाली टीम में चौबेपुर थाना प्रभारी विनय कुमार तिवारी भी थे। लेकिन रेड के दौरान वह रास्ते में खड़ी जेसीबी के पास ही रुक गए थे, जबकि उनको गांव की भौगोलिक स्थिति की अच्छी जानकारी थी। बदमाशों की फायरिंग के वक्त वह मौके से नदारद हो गये थे। बदमाशों ने पुलिसवालों को घेर कर फायरिंग, जिसमें सीओ, तीन एसआई, चार कांस्टेबल शहीद हो गए थे। इसके अलावा, दो ग्रामीण, एक होमगार्ड और 4 पुलिसवाले घायल हो गए थे।

नेपाल बॉर्डर पर अलर्ट, जगह-जगह चस्पा गैंगस्टर की फोटो
विकास के नेपाल भागने की आशंका को देखते हुए लखीमपुर-बॉर्डर पर अलर्ट घोषित कर दिया गया है। यहां नेपाल से जुड़ी 120 किमी की सीमा है। लखीमपुर खीरी की एसपी पूनम ने बताया, 'विकास दुबे को लेकर नेपाल बॉर्डर पर अलर्ट कर दिया गया है। यहां नेपाल से जुड़ी 120 किमी की सीमा है, चार थाने हैं, हर जगह फोटो चस्पा कर दी गई है। एसएसबी के अधिकारियों से बातचीत की जा रही है। पुलिस को आशंका है कि विकास सरेंडर के लिए कोर्ट में आवेदन कर सकता है। इसके चलते सभी जिलों की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें : कानपुर मुठभेड़ में बड़ी कार्रवाई शुरू, गिराया जा रहा है गैंगस्टर विकास दुबे का घर

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned