सर्राफा लूटकांड: सात लाख की ज्वैलरी सहित चार लुटेरे गिरफ्तार

सर्राफा लूटकांड: सात लाख की ज्वैलरी सहित चार लुटेरे गिरफ्तार
escaped

Shribabu Gupta | Publish: Aug, 11 2015 09:07:00 PM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

चार बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनके पास से सात लाख के जेवरात और भारी मात्रा में असलहे बरामद किए गए हैं...

आगरा। सर्राफा व्यवसायी संदीप सोनी लूटकांड का पुलिस ने अनावरण कर दिया है। लूट की वारदात में शामिल चार बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनके पास से सात लाख के जेवरात और भारी मात्रा में असलहे बरामद किए गए हैं।

एसपी सिटी राजेश कुमार सिंह ने मंगलवार को बताया कि मुखबिर की सूचना के आधार पर जगदीशपुरा क्षेत्रांतर्गत कलवारी चौराहा से पुलिस मुठभेड़ के बाद चार लुटेरों विकास उर्फ विक्की पुत्र मुन्नालाल निवासी फिरोजाबाद, टीटू उर्फ सोनू पुत्र पूरनचंद निवासी हाथरस, अनिल उपाध्याय उर्फ बॉबी पुत्र देवेश उपाध्याय निवासी एटा तथा मुकेश पुत्र हरीशंकर निवासी हाथरस को गिरफ्तार कर लिया गया।

इनके पास से लूटा गया आभूषण (कीमत करीब सात लाख रुपए), तीन तमंचा, एक पिस्टल, दो मोटरसाइकिल, छह जिंदा कारतूस बरामद किया गया। सभी बदमाश पुराने हिस्ट्रीशीटर हैं। गैंग के सदस्यों ने अन्य जनपदों में भी लूटपाट की कई घटनाओं का इकबाल किया है। गिरफ्तार अभियुक्त टीटू उर्फ सोनू गौतम थाना एमएम गेट जनपद आगरा से पांच हजार रुपए का ईनामी बदमाश है।

उल्लेखनीय है कि 9 जुलाई 2015 को सर्राफा व्यापारी संदीप सोनी और उसके पिता अशोक सोनी (प्रांशु ज्वैलर्स) दुकान बंद कर अपने घर जा रहे थे। रास्ते में हथियारों से लैस बदमाशों ने मारपीट और फायर करते हुए उनकी वैगन आर कार से सोने-चांदी के आभूषणों से भरा थैला लूट लिया था।


कैसे दिया वारदात को अंजाम:

सर्राफा व्यापारी के घर के पास ही जीतू निवासी फिरोजाबाद तथा सतवीर निवासी मथुरा किराए के मकान पर रहते थे। इन्होंने ही सर्राफा व्यापारी के बारे में मुखबिरी कर पूरी जानकारी बदमाशों को दी थी। यही नहीं वारदात को अंजाम देने के लिए हथियार भी मुहैया कराए थे। लिहाजा लूट के बाद सबसे ज्याद हिस्सा जीतू और सतवीर ने ही लिया था। वारदात को अंजाम देने के बाद सभी लोग तमिलनाडु में ऐय्याशी करने के लिए चले गए थे। फिलहाल जीतू तथा सतवीर पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं।


बड़ी उपलब्धि

सर्राफा व्यापारी के साथ हुई लूट के कारण व्यापारियों में खासा रोष था। इस घटना के अनावरण को पुलिस अधिकारी बड़ी उपलब्धि मान रहे हैं। एसएसपी राजेश डी मोदक ने गिरफ्तार करनेवाली पुलिस टीम को पांच हजार रुपए नकद इनाम देने की घोषणा की है।


टीम में ये थे शामिल:

उपनिरीक्षक अजय किशोर, राकेश गिरि, मुख्य आरक्षी सुनील कुमार तिवारी, कांस्टेबल सर्वेश कुमार, आदेश त्रिपाठी, प्रशांत सिंह, अजय कुमार, अजय चौधरी, प्रमोद कुमार, मुन्ना लाल, अवधेश, सुरेन्द्र, सूर्यप्रताप, पंकज, देवेन्द्र, सत्यवीर, विमल, हरदेश, जनवेद सिंह, मुकेश एवं स्वाट टीम।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned