अब गंगा की एसडीआरएफ और जल पुलिस करेगी निगरानी

Kanpur Ganges SDRF Water police Surveillance - जल समाधि देने वालों पर होगी कार्रवाई

By: Mahendra Pratap

Published: 15 May 2021, 01:10 PM IST

कानपुर. Kanpur Ganges SDRF Water police Surveillance यूपी के कई जिलों में कोरोना वायरस ने अपना कहर बरपा रखा है। संक्रमण के साथ ही साथ इन शहरों में ढेर सारे कोरोना संक्रमितों की मौत हुई। अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट में जगह न होने पर नदी किनारे वाले शहरों में परिजनों ने संक्रमितों के शव या तो गड्ढा खोद कर गाड दिया या फिर उन्हें बहा दिया। पर अब नदी या गंगा में शव प्रवाहित नहीं होंगे। गंगा के दोनों किनारों पर एसडीआरएफ और जल पुलिस पहरेदारी करेंगी। अगर कोई व्यक्ति जल समाधि देते हुए पाया गया तो कार्रवाई होनी तय है। केंद्र सरकार और केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड की नाराजगी के बाद कानपुर में बिल्हौर से लेकर ड्योढ़ी घाट तक गंगा में पेट्रोलिंग होगी।

बालू के ढेर में छिपाकर और नदियों में शवों को फेंककर छिपाया जा रहा है मौतों का आंकड़ा : संजय सिंह

बारिश ने खोली पोल :- पिछले दिनों हुई बारिश ने जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की पोल खोल दी। बारिश से गंगा की रेती में दबे शव बाहर आ गए। और गंगा में उतराने लगे। जिस वजह से यूपी सरकार की काफी खिंचाई हुई। केंद्र सरकार और केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के रिपोर्ट मांगने के बाद योगी सरकार ने गंगा की निगरानी के आदेश दिए हैं।

ग्रामीण क्षेत्रों में आउटर पुलिस करेगी गंगा की पहरेदारी :- इसके बाद बेहद गंभीरता के साथ कानपुर कमिश्नरेट और आउटर पुलिस ने अपने क्षेत्रों में गंगा की निगरानी करने की योजना बनाई है। एसडीआरएफ (स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फोर्स) की एक टीम और एक प्लाटून पीएसी की टीम शनिवार को कानपुर पहुंच जाएगी। जहां शहरी क्षेत्रों में कानपुर कमिश्नरेट पुलिस की टीमें वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में आउटर पुलिस गंगा की पहरेदारी करेंगी।

अंतिम संस्कार पुलिस टीम कराएगी :- पुलिस कमिश्नर कानपुर असीम अरुण ने बताया कि, शनिवार से एसडीआरएफ और पीएसी की टीमें गंगा में पेट्रोलिंग करेंगी। एसडीआरएफ और पीएसी को स्टीमर मुहैया कराया जाएगा। गंगा में कोई शव दिखा तो उसका अंतिम संस्कार पुलिस टीम कराएगी। कोई प्रवाहित करता हुआ मिला तो विधिक कार्रवाई भी की जाएगी।

शव बहाने वालों पर जुर्माना लगाने पर मंथन :- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को नदियों में शव बहाने पर सख्ती से रोक लगाने को कहा है, शव बहाने वालों पर जुर्माना भी लगाने पर विचार किया जा रहा है। प्रत्येक व्यक्ति जिसकी मृत्यु हुई है उसे सम्मानजनक रूप से अंत्येष्टि का अधिकार है।

Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned