कानपुर में तैयार हुई २४ घंटे में डेंगू का संक्रमण पकडऩे वाली जांच किट

पैथालॉजी जाने की जरूरत नहीं, घर पर बैठकर कर सकेंगे जांच
मेक इन इंडिया का उत्पाद, विदेशी किट के मुकाबले होगी सस्ती

कानपुर। अब डेंगू की जांच के लिए न तो पैथालॉजी जाने की जरूरत होगी और न ही इलाज शुरू करने के लिए रिपोर्ट का इंतजार करना पड़ेगा। अब यह सब आपके हाथ में होगा। आप अपने घर पर ही डेंगू की जांच कर सकेंगे। लोग ब्लड शुगर की तरह अपने घर पर पांच से 10 मिनट के अंदर जांच कर सकेंगे। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी-कानपुर) व लक्ष्मीपत सिंघानिया इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी की मदद से तैयार डेंगू जांच किट जुलाई से उपलब्ध होगी। इसे देश की पांच प्रमुख प्रयोगशालाओं में परीक्षण के लिए भेज दिया गया है। उसके बाद मानव पर ट्रायल होगा और बाजार में उतार दिया जाएगा।

मेक इन इंडिया का सफल उत्पाद
डेंगू की यह जांच किट पूरी तरह मेक इन इंडिया के तहत तैयार की गई है। इसके जरिए 24 घंटे के भीतर हुए डेंगू के संक्रमण का पता चल सकेगा। दावा है कि इसका रिजल्ट एलाइजा जांच के रिजल्ट जैसा ही है। कार्डियोलॉजी के निदेशक प्रो. विनय कृष्णा का कहना है कि यह किट चमत्कारिक साबित होगी। यह टेंशन नहीं रहेगा कि प्लेटलेट कम हो रहा है या नहीं। इसको लेकर 20 जनवरी को दिल्ली में एक बैठक भी है। प्रो. कृष्णा के मुताबिक, यह जांच किट नैनो तकनीक पर आधारित है। आईआईटी-कानपुर में पेपर माइक्रोफ्लूइडिक तकनीक से एक टेस्ट कार्ड तैयार किया गया है। संस्थान में सीरम के साथ एनएस-1 प्रोटीन के साथ नमूने बनाकर टेस्ट किए गए। यह प्रयोग पूरी तरह से सफल रहे।

२४ घंटे में रिजल्ट देने वाली पहली किट
संक्रमण के 24 घंटे के अंदर वायरस का पता लगाने वाली किट उपलब्ध नहीं है। डेंगू वायरस की पहचान के लिए अधिकतर किटें चीन, कोरिया समेत अन्य देशों से आती हैं जो काफी महंगी हैं। इनसे वायरस का पता भी डेंगू संक्रमण के तीन-चार दिन बाद चलता है। एलाइजा जांचों में भी समय लगता है। इससे मरीज का इलाज प्रभावित होता है। प्रो. विनय कृष्णा के मुताबिक आने वाले सीजन में स्वदेशी किट उपलब्ध हो जाएगी। प्रयोगशाला में परीक्षण में एक से डेढ़ महीने का समय लगेगा। उसके बाद फाइल एफडीए भेजी जाएगी।

Show More
आलोक पाण्डेय Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned