हाइवे पर गड्ढों के कारण मजदूर की मौत, पुलिस हिरासत में NHAI का जेई

हाइवे पर गड्ढों के कारण मजदूर की मौत, पुलिस हिरासत में NHAI का जेई

Hariom Dwivedi | Publish: Jul, 11 2019 06:17:02 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

- कानपुर-सागर हाईवे पर नौबस्ता थाना क्षेत्र में हुआ था सड़क हादसा
- गड्ढों के कारण पलट गई थी ट्रैक्टर ट्रॉली
- नौबस्ता थाना क्षेत्र में दर्ज हुआ मामला

कानपुर . बुधवार को सड़क हादसे में एक मजदूर की मौत हो गई थी। हादसे की वजह सड़क में गड्ढे होना माना जा रहा है। मृतक की पत्नी की शिकायत पर पुलिस (UP police ) ने एफआईआर दर्ज कर लिया। इतना ही नहीं गड्ढे के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) के जेई को हिरासत में ले लिया। खबर लिखे जाने तक पुलिस ने जेई को नौबस्ता थाने में बिठाकर रखा है। थाना प्रभारी समर बहादुर सिंह का कहना है कि मृतक की पत्नी ने तहरीर दी है। पुलिस ने मामला दर्ज कर एनएचएआई के जेई को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी गई है। गोविंदनगर सीओ चक्रेश मिश्रा ने बताया कि एनएचएआई के जेई को हिरासत में लिया गया है। जांच के बाद आगे कार्रवाई की जाएगी। कहा कि NHAI के अधिकारियों को मामले से अवगत कराने के साथ ही हाईवे के गड्ढे जल्द से जल्द भरने को कहा गया है।

नौबस्ता बाईपास चौराहे पर बुधवार को लोहे की पटिया लदी ट्रैक्टर ट्राली गड्ढे में पलटने से मजदूर राजेश राजपूत (40) की दबकर मौत हो गई, जबकि मजदूर नीरज और टीनू घायल हो गए थे। सभी हैलट अस्पताल में भर्ती हैं। मामले में उन्नाव के रौतेपुर निवासी मृतक मजदूर राजेश राजपूत की पत्नी गोमती ने नौबस्ता थाने एफआइआर दर्ज कराई थी। घटना के बाद पुलिस ने जेसीबी मंगवाई और गड्ढा भरवाया। क्षेत्रीय लोगों ने बताया कि कानपुर-सागर हाईवे पर बालू-मौरंग लदे ट्रक रोजाना दौड़ते हैं, जिसके कारण सड़क मे बड़े-बड़े गड्ढे हो गये हैं। गड्ढों के कारण यहां अक्सर हादसे होते हैं और जाम के झाम से लोगों को दो-चार होना पड़ता है। मामले में जेई को हिरासत में लिये जाने को शहरवासी एक नये ट्रेंड के रूप में देख रहे हैं।

यह भी पढ़ें : दहशत के अंधेरे में तालीम की रोशनी फैला रही पुलिस, ताकि फिर कोई न बने डकैत

एम्बुलेंस में दिया था बच्ची को जन्म
पान का ठेला लगाने वाले सर्वेश बताते हैं कि शाम सात से लेकर रात के दस बजे के बीच यहां हर जाम लगता है। बीते दिन की घटना को याद करते हुए वह बताते हैं कि 15 दिन पहले जाम में एक एम्बुलेंस फंस गई थी, जिसमें एक गर्भवती महिला सवार थी। जाम नहीं खुलने से महिला ने एम्बूलेंस के अंदर बच्चे को जन्म दिया था।

पत्रिका पोल पर लोगों की राय
पत्रिका उत्तर प्रदेश की टीम ने अपने फेसबुक पेज (Patrika Uttar Pradesh) पर लोगों की राय जानने के लिए एक पोल चलाया। पत्रिका ने लोगों से सवाल किया कि क्या सड़क हादसे के लिए हिरासत में जेई। क्या इस प्रकरण सबक लेंगे अफसर? इस पर करीब 60 फीसदी लोगों ने का ने हां कहा, जबकि करीब 30 फीसदी लोगों की राय नहीं थी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned