scriptKanpur Violence Accused Akil Khichdi Connection to Pakistan SIT Found | कानपुर हिंसाः एसआईटी जांच में होश उड़ाने वाली खुलासे, हिंसा में पाकिस्तानी कनेक्शन, उपद्रव के समय पाक आकाओं से... | Patrika News

कानपुर हिंसाः एसआईटी जांच में होश उड़ाने वाली खुलासे, हिंसा में पाकिस्तानी कनेक्शन, उपद्रव के समय पाक आकाओं से...

Kanpur Violence: कानपुर हिंसा में एसआईटी को जांच के दौरान कई बड़े सबूत हाथ लगे हैं, जिनका तार पाकिस्तान से सीधा जुड़ रहा है।

कानपुर

Updated: June 23, 2022 10:54:42 am

कानपुर में जुमे की नमाज के बाद तीन जून को हुई हिंसा में कई बड़े राज खुलकर सामने आ रहे हैं। इसी बीच एसआईटी की जांच में चौकाने वाला खुलासा हुआ। गौरतलब है कि जिस वक्त कानपुर में उपद्रवी भीड़ बवाल कर रही थी, उस समय कुख्यात अपराधी अकील खिचड़ी अपने मोबाइल फोन से पाकिस्तानी आकाओं के संपर्क में था। इस खुलासे के बाद एसआईटी और सख्त हो गई। अब उपद्रव में पाकिस्तानी कनेक्शन खंगाल रही है।
Kanpur Violence Accused Akil Khichdi Connection to Pakistan SIT Found
Kanpur Violence Accused Akil Khichdi Connection to Pakistan SIT Found
कानपुर हिंसा में अब तक हयात जफर अंसारी समेत 58 आरोपितों को गिरफ्तार करके जेल भेजा गया है। एसआईटी ने अब तक जांच में उपद्रव के पीछे दो वजह समझ आ रही हैं। पहला, उपद्रव की साजिश नुपुर शर्मा की टिप्पणी को लेकर भारत की विश्व पटल पर बदनामी कराने को गई। दूसरा, उपद्रव के पीछे स्थानीय कारण हिंदुओं की बस्ती चंद्रेश्वर हाता खाली कराना था। हालांकि उपद्रव के करीब 18 दिन बाद नए तथ्य ने पुलिस की जांच की दिशा बदल दी है। उपद्रव के बाद से पुलिस नई सड़क के मोबाइल टावर का डाटा खंगाल रही थी। उसमें सामने आया है कि एक मोबाइल नंबर से उस वक्त पाकिस्तान बात चल रही थी। पुलिस तब और चौंकी जब पता चला कि नंबर को डी-टू गैंग का अकील खिचड़ी इस्तेमाल कर रहा है।
यह भी पढ़ें

पानी पी-पी कर दिए जवाब, बिरयानी मांगी तो अधकारियों ने खिलवाई सब्जी और रोटी

क्या है अकील खिचड़ी का इतिहास

अकील खिचड़ी का है लंबा आपराधिक इतिहास लगभग 40 साल का अकील खिचड़ी अपराधियों का गढ़ कहे जाने वाले गम्मू खां का हाता का रहने वाला है। कर्नलगंज थाने का हिस्ट्रीशीटर बदमाश है। इसके खिलाफ कर्नलगंज थाने में 21 मुकदमे हैं। अनुमान है कि अन्य थानों में भी इसके खिलाफ आठ से दस मुकदमे हैं। अकील का भाई अतीक भी थाने का हिस्ट्रीशीटर है। अकील के खिलाफ लूट, मारपीट, हत्या का प्रयास, ड्रग्स तस्करी, गुंडा एक्ट, गैंगस्टर एक्ट में मुकदमे दर्ज हैं। इसके डी-टू गैंग से भी गहरे संबंध सामने आए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Udaipur murder case: गुस्साए वकीलों ने कन्हैया के हत्यारों के जड़े थप्पड़, कोर्ट ने 10 दिन के लिए भेजा रिमांड परMaharashtra: गृहमंत्री शाह ने महाराष्ट्र के उमेश कोल्हे हत्याकांड की जांच NIA को सौंपी, नुपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने के बाद हुआ था मर्डरनूपुर शर्मा विवाद पर हंगामे के बाद ओडिशा विधानसभा स्थगितMaharashtra Politics: बीएमसी चुनाव में होगी शिंदे की असली परीक्षा, क्या उद्धव ठाकरे को दे पाएंगे शिकस्त?सरकार ने FCRA को बनाया और सख्त, 2011 के नियमों में किये 7 बड़े बदलावकेरल में दिल दहलाने वाली घटना, दो बच्चों समेत परिवार के पांच लोग फंदे पर लटके मिलेक्या कैप्टन अमरिंदर सिंह बीजेपी में होने वाले हैं शामिल?कानपुर में भी उदयपुर घटना जैसी धमकी, केंद्रीय मंत्री और साक्षी महाराज समेत इन साध्वी नेताओं पर निशाना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.