scriptKanpur Violence Investigation Found PFI Trap and Transaction of crores | कानपुर हिंसाः ऐसे चल रहा था पीएफआई खेल, वकील से लेकर डॉक्टर भी शामिल, कोरोड़ो का लेन-देन | Patrika News

कानपुर हिंसाः ऐसे चल रहा था पीएफआई खेल, वकील से लेकर डॉक्टर भी शामिल, कोरोड़ो का लेन-देन

Kanpur Clash Investigation: कानपुर हिंसा की जांच में कई बड़े खुलासे हुए। पीएफआई प्रोफेशनल्स को भी झांसे में लेकर खेल रही थी।

कानपुर

Updated: June 09, 2022 10:40:49 am

कानपुर नई सड़क बवाल के बाद एटीएस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार पीएफआई (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) के सदस्यों ने प्रोफेशनल्स के नौ व्हाट्स एप ग्रुप बनाए थे। जिसमें अलग अलग प्रोफेशनल्स को अलग अलग ग्रुप में रखा गया था। इन्हीं में बंदी के मैसेज भी पोस्ट किए जा रहे थे। उन्हीं ग्रुप्स में इन मैसेजों को आगे फार्वर्ड करने के लिए भी कहा गया था। एटीएस की जांच में इसका खुलासा हुआ है। वहीं, बवाल के मुख्य आरोपित जफर हयात हाशमी के संगठन जौहर फैंस एसोसिएशन के करीबियों के खातों में मोटी रकम ट्रांसफर होने के सुराग पुलिस के हाथ लगे हैं।
Kanpur Violence Investigation Found PFI Trap and Transaction of crores
Kanpur Violence Investigation Found PFI Trap and Transaction of crores
सूत्रों के मुताबिक जफर हयात व उसके चारों साथी पीएफआई के सदस्यों के सम्पर्क में थे। जफर हयात ने बाजार बंदी को लेकर जो योजना बनाई उसे पीएफआई सदस्यों के साथ साझा किया। इधर पीएफआई सदस्यों ने एक ही पक्ष के डाक्टर, वकील, व्यापारी समेत अलग अलग प्रोफेसनल्स के ग्रुप बना रखे थे। 3 जून को बाजार बंदी और 5 जून को जेल भरो आंदोलन के मैसेज ग्रुपों में भेजे गए। इसके बाद उन्हीं ग्रुप्स में इसे आगे फॉर्वर्ड करने के लिए कहा गया। जिसके बाद यह मैसेज सैकड़ों लोगों के मोबाइल पर पहुंचा।
यह भी पढ़ें

कानपुर हिंसा अपडेटः बुलडोजर एक्शन के विरोध में सड़कों पर उतरी महिलाएं, बोलीं जिएंगे-मरेंगे यहीं, किसी की दम...

प्राइवेट बैंक से भेजे जाती है रकम

पुलिस और एटीएस संयुक्त तौर पर जांच कर रही है। हालांकि पुलिस इस मामले में आधिकारिक तौर पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। यह भी जानकारी मिली है कि इन्हीं खातों में सीएए-एनआरसी विरोध में हुए बवाल के दौरान भी पैसा भेजा गया था। पुलिस सूत्रों के मुताबिक बाबूपुरवा इलाके में स्थित प्राइवेट बैंक के खातों में जुलाई 2019 में लाखों रुपये भेजे गए थे। वर्तमान में इसमें करीब तीस लाख रुपये पड़े हैं। कुछ रकम बीच-बीच में निकाली गई। दो अन्य खातों में दो वर्षों के भीतर करोड़ों रुपयों का ट्रांजेक्शन होने की जानकारी मिली है। पुलिस के मुताबिक दोनों खातों में भी वर्तमान में 10-20 लाख रुपये मौजूद हैं।
कई लोगों को उपलब्ध कराई गई छोटी रकम

पुलिस सूत्रों के मुताबिक शहर के कई सफेदपोश, व्यापारी और समुदाय के लोगों को एसोसिएशन के करीबियों ने छोटी-छोटी रकम लगातार दी है। जिस रकम का इस्तेमाल इसी तरह के धरना-प्रदर्शन में होता रहा है। सीएए-एनआरसी विरोध में हुए बवाल के बाद से पीएफआई ने फंडिंग का तरीका भी बदल दिया है। सुर्खियों से बचने के लिए संगठन इंटरनेशनल फंडिंग से बचता है। यह खुलासा एटीएस की जांच में हुआ है। एटीएस सूत्रों के मुताबिक यहां भी कोई फंड मैनेजर है जिसने इंटरनेशनल अकाउंट से फंड अपने खाते में मंगाया और फिर बांटने का काम किया है। एटीएस सूत्रों के मुताबिक सीएए-एनआरसी विवाद के बाद पीएफआई संगठन ने सीधे तौर पर इंटरनेशनल फंड लेना बंद कर दिया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Eknath Shinde Property: मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से 12 गुना ज्यादा अमीर हैं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, जानें किसके पास कितनी संपत्तिपश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के आवास में घुसने वाले शख्स ने परिसर को समझ लिया था कोलकाता पुलिस का मुख्यालयबीजेपी नेता कपिल मिश्रा को मिली जान से मारने की धमकी, ईमेल में लिखा - 'हम तुम्हें जीने नहीं देंगे'हैदराबाद के एक कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे RCP सिंह तो BJP में शामिल होने की लगने लगी अटकलें, भाजपा ने कही ये बातप्रदेश के भोपाल, इंदौर समेत 11 नगर निगमों में मतदान 6 को, चुनावी शोर थमाकानपुर मेट्रो: टनल बनाने का काम शुरू, देश को समर्पित करने के विषय में मिली ये जानकारीउदयपुर कन्हैया हत्याकांड का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट करने पर युवक गिरफ्तारवरिष्ठता क्रम सही करने आरक्षकों की याचिका पर विभाग को 21 दिन में निर्णय लेने का आदेश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.