देर से ही सही बच्चों को मिले स्वेटर, विपक्ष ने योगी सरकार पर दागे सवाल

Ashish Pandey

Publish: Jan, 13 2018 09:36:56 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
देर से ही सही बच्चों को मिले स्वेटर, विपक्ष ने योगी सरकार पर दागे सवाल

बोले सपा नगर अध्यक्ष-आधी जनवरी खत्म हो चुकी है, अब स्वेटर देकर बच्चों के साथ मजाक किया जा रहा है।

 

कानपुर. योगी सरकार ने गरीबों के लिए कई ऐलान किए थे, जिसमें से एक बड़ा ऐलान था कि इसी सत्र से सभी सरकारी स्कूली बच्चों के लिए ड्रेस, स्वेटर, जूते-मोजे और किताबें सरकार मुहैया कराएगी। सरकार ने वादा पूरा करते हुए सभी चीजें बच्चों को मुहैया करा दी हैं, लेकिन ठंड शुरू होने के बाद भी बच्चों को स्वेटर नहीं दिए थे। इसी के कारण विरोधी दल के नेता सीएम योगी आदित्यनाथ के कामकाज पर सवाल उठा रहे थे। शनिवार को शासन की तरफ से बच्चों के लिए स्वेटर की पहली खेप पहुंची और नगर अध्यक्ष उसे लेकर स्कूल पहुंचे। यहां पर बच्चों को स्वेटर देकर वाहवाही लूटी। वहीं सपा के नगर अध्यक्ष मोइन खान योगी सरकार पर जमकर बरसे। नगर अध्यक्ष ने कहा आधी जनवरी खत्म हो चुकी है। ठंड की वजह से बच्चे बीमार हुए और स्कूल नहीं आए। सरकार स्वेटर बांटने का अपना वादा भूल गई थी। अब स्वेटर देकर बच्चों के साथ मजाक किया जा रहा है।

सीएम योगी ने किया था वादा
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फरमान जारी किया था कि सूबे के सभी प्राथमिक स्कूलों के छात्र-छात्राओं को ड्रेस के अलावा स्वेटर और जूते-मोज़े भी दिए जाएंगे, लेकिन आधी जनवरी बीतने के बाद भी कई सरकारी स्कूलों में नौनिहालों को स्वेटर नहीं बांटे गए हैं। सिस्टम की लेट-लतीफी ठंड से ठिठुरते बच्चों पर भारी पड़ रही है। सरकार की हो रही किरकिरी से बचने के लिए शनिवार को पहली स्वेटरों की खेप कानपुर पहुंची और भाजपा नगर अध्यक्ष की मौजूदगी में बच्चों को स्वेटर दिए गए। इस दौरान भाजपा नगर अध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी ने कहा कि कुछ कारण वश बच्चों को स्वेटर वितरण में देरी हुई, जिसके लिए हम सब को दुख है। आज से बच्चों को स्वेटर वितरण का अभियान शुरू कर दिया गया है और एक सप्ताह के अंदर सभी स्कूलों के बच्चों को स्वेटर उपलब्ध करा दिए जाएंगे।
जेम पोर्टल के कारण फंसा पेच
भाजपा नगर अध्यक्ष ने बताया कि सरकार ने तय किया था कि गर्वनमेंट ई-मार्केट (जेम) पोर्टल के जरिए स्वेटरों की खरीद की जाएगी। इसके लिए अक्टूबर के आखिर में प्रक्रिया शुरू हुई। 1.53 करोड़ स्वेटर एक साथ उपलब्ध करवाने में पोर्टल पर पंजीकृत फर्मों ने हाथ खड़े करने शुरू कर दिए। इसी बीच निकाय चुनाव की आचार संहिता भी लागू हो गई। राज्य निर्वाचन आयोग ने आचार संहिता का हवाला देकर टेंडर रोक दिया। करीब एक सप्ताह विभाग को आयोग से इसकी अनुमति लेने में लग गए। प्रक्रिया दुबारा शुरू हुई, लेकिन फर्म का इंतजार ने स्वेटर उपलब्ध कराए जाने से हाथ खड़े कर दिए। नगर अध्यक्ष ने कहा कि दोबारा टेंडर प्रक्रिया की गई और अब स्वेटर बच्चों को मिल पाए। नगर अध्यक्ष ने कहा विरोधी दलों के नेताओं को इप राजनीति नहीं करनी चाहिए। योगी सरकार ने जितने वादे किए वह पूरे किए जा रहे हैं।

बच्चों के प्रति संवदनशील नहीं सीएम
सपा नगर अध्यक्ष मुईन खान ने कहा कि सीएम योगी बच्चों के मामले पर संवेदनशील नहीं हैं। कहा, गोरखपुर में बच्चों की मौत हो रही थी, वहीं सीएम चुनावों में व्यस्थ दिखे। दिसबंर से लेकर जनवरी तक परा लुड़कर 4 के नीचे पहुंच गया, बावजूद सीएम योगी ने नौनिहालों पर तरस नहीं दिखार्द। ठंड भरे मौसम में छोटे-छोटे बच्चे स्कूल पढऩे के लिए आए। इस दौरान कई सर्दी लगने के चलते बीमार पढ़ गए। सरकार ने किरकिरी से बचने के लिए स्कूलों को बंद करा दिया। जिसके चलते बच्चों को दोहरी मार उठानी पड़ी। नगर अध्यक्ष ने कहा कि सिर्फ वाहवाही लूटने के लिए भाजपाईयों ने स्वेटर वितरण किए।

Ad Block is Banned