सुरक्षा और सरंक्षा पर रेलवे का फोकस, सेंट्रल स्टेशन का होगा कायाकल्प

सुरक्षा और सरंक्षा पर रेलवे का फोकस, सेंट्रल स्टेशन का होगा कायाकल्प

Vinod Nigam | Publish: Sep, 08 2018 10:16:17 PM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अष्वनी लोहानी ने किया रेलवे स्टेशनों का निरीक्षण, कानपुर के यात्रियों को दी गई सौगात

कानपुर। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी शनिवार को कानपुर पहुंचे। वो सबसे पहले सेंट्रल स्टेशन के अलावा अनवरगंज और मंघना रेलवे स्टेशनों का निरीक्षण किया। इस मौके पर लोहानी को कई खामियां मिलीं, जिन्हें देखकर उन्होंने अफसरों से नराजगी व्यक्त की। लोहानी ने पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि 2017 के मुकाबले 2018 में ट्रेन हादसों में 62 फीसदी की कमी आई है, जो यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। वहीं वहीं यात्री सुरक्षा अभी भी चुनौती का विषय बना हुआ है। हालांकि यात्री सुरक्षा राज्य का विषय होता है पर इसमें भी रेलवे अपने स्तर से नये सुधार कर रहा है। सेंट्रल स्टेशन को वर्ल्ड क्लास स्टेशन बनाए जाने के लिए कार्य चल रहा है। अगले साल तक इसकी ग्रिनती खूबसूरत स्टेशनों में होगी।

श्रृमशक्ति से पहुंचे कानपुर
रेलवे बोर्ड के चेयरमैन शनिवार को सुबह श्रमशक्ति एक्सप्रेस ट्रेन से कानपुर पहुंचे। रेलवे बोर्ड के चेयर मैन अश्वनी लोहानी ने पहले अनवर से मंधना तक हटाये जाने वाले रेलवे ट्रैक का गरुणयान इंजन से निरीक्षण किया। इसके बाद इलेक्ट्रिक लोकोशेड से सोलर प्लांट का उद्घाटन किया। वहीं कानपुर सेन्ट्रल स्टेशन का भी निरीक्षण किया, जहां मिली खामियों को दूर करने और यात्री सुविधा को और बेहतर बनाये जाने को लेकर अधिकारियों को दिशा निर्देश भी दिए। इसके बाद दुर्घटना में रिलीफ पहुंचाने वाली एक रिलीफ ट्रेन का भी उद्घाटन किया। स्टेशनों में साफ-सफाई के साथ सीसीटीवी कैमरों के अलावा पेजजल के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली। सेंट्रल स्टेशन पर आवारा मवेशियों की शिकायत पर चेयरमैन ने अधिकारियों को फटकार लगाई और प्लेटफार्मो पर मवेशी पाए जाने पर कार्रवाई की बात कही।

सेफ्टी पर ज्यादा फोकस
चेयरमैन अश्वनी लोहानी ने बताया कि अनवर गंज से मंधना तक रेलवे ट्रैक हटाये जाने को लेकर एक कमेटी बनायी गयी है जो जल्द ही निष्कर्ष निकलेगी। कहा इन दिनों सेफ्टी के लिए सबसे ज्यादा काम किये जा रहे हैं। गोविन्द नगर स्टेशन में टॉयलेट न होने की बात पर उन्होंने कहा कि तीन महीने में बनाकर तैयार कर दिया जायेगा। इसके साथ ही अन्य छोटे स्टेशनों पर शौचालय बनाने के लिए कई एनजीओ से बातचीत चल रही है। खानपान के गिरते स्तर पर उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि 12 लाख लोगों को प्रतिदिन खाना देता है और रेलवे बराबर सुधार कर रहा है। शताब्दी और राजधानी की गुणवता अब बहुत अच्छी हो गयी है। जल्द ही अन्य ट्रेनों में यात्रियों को अच्छा भोजन उपलब्ध होगा।

सेंट्रल स्टेशन का मास्टर प्लॉन तैयार
सेंट्रल रेलवे स्टेशन के विकास पर चेयरमैन ने कहा कि इसके लिए मास्टर प्लान को हरी झडी दे दी गई है और इस समय मास्टर प्लान अनुमोदन के अंतिम चरण में है। इसके अनुमोदन होते ही कानपुर सेंट्रल स्टेशन का कायाकल्प होने का काम शुरू हो जाएगा। जिससे इस मास्टर प्लान के तहत जल्द ही कानपुर रेलवे स्टेशन पर बहुत कुछ बदला हुआ मिलेगा। दिल्ली से लेकर कानपुर के अधिकारी दिन-रात इस कार्य में जुटे हुए हैं। लोहानी ने बताया कि दक्षिण भारत के लिए सीधी ट्रेन कानपुर से चले इसकी मांग व्यापारियों ने की है। जल्द यहां से चेन्नई, बेंगलुरू और हैदराबाद सहित अन्य शहरों के लिए सेंट्रल स्टेशन से सीधे ट्रेन उपलब्ध होगी। लोहानी ने बताया कि कुछ ट्रेनों की स्पीड़ बड़ाए जाने पर भी कार्य चल रहा है। ट्रैक के निर्माण के बाद कई ट्रेनों हाईस्पीड में दौड़ेंगी।

जल्द जाम से मिलेगी मुक्ति
रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सेंट्रल रेलवे स्टेशन से विशेष निरीक्षण यान गरुण पर सवार होकर रेल अनवरगंज-मंधन ट्रैक का निरीक्षण। इस दौरान जीटी रोड के बगल पर चलने वाले इस ट्रैक की क्रासिंगों में भीषण जाम रहा। जिससे हर क्रासिंग पर जीटी रोड में दूर-दूर तक वाहनों की कतार रही। यह देख चेयरमैन हतप्रद हो गये और अपने पुराने दिनों को साझा करते हुए मीडिया से कहा कि जब मैं यहां पढ़ता था तो ऐसा नजारा नहीं देखने को मिलता था। ऐसे में इस ट्रैक पर होने वाले जाम के लिए जल्द ही कोई हल निकाला जाएगा। बताया कि 17 किमी लंबे इस रेलवे ट्रैक में 17 रेलवे फाटक हैं जो कि जीटी रोड पर जाम की स्थिति पैदा करते हैं। कहा, उनकी कोशिश है कि जीटी रोड को हर हाल में जाम से मुक्ति दिलाई जाए। इसके लिए उन्होंने उत्तर मध्य रेलवे से सर्वे करने को कहा है।

लोहानी का बचपन कानपुर में बीता
रेलवे चेयमैन अश्वनी लोहानी के पिता कानपुर में अध्यापक थे और उनका बचपन कानपुर में ही गुजरा और यहीं से शिक्षा ग्रहण कर इस मुकाम तक पहुंचे है। चेयरमैन बनने के बाद आज उनका दूसरा दौरा था। चेयरमैन के शहर आने पर उनके पुराने साथी रेलवे स्टेशन मिलने पहुंच गये और दिल खोलकर अपने साथियों से चेयरमैन ने मुलाकात की। इस मौके पर उनके दोस्तों ने कानपुर सेंट्रल स्टेशन की बदहाली की दास्तां बताई। उनके मि. राहुल देव ने लोहानी को बताया कि जब आप यहां पढ़ते थे तब स्टेशन साफ-सुधरा रहता था। लेकिन आज तक आप रेलवे के चेयरमैन हैं तो स्टेशन बदहाल है। चेहरमैन ने कहा कि राहुल जी कुछ दिन इंतजार करिए। आने वाले वक्त कानपुर का है।

 

Ad Block is Banned