ये हैं मोदी के स्वच्छता अभियान के सिपाही, जिन्होंने अस्पताल में गंदगी देख काटा हंगामा, मचा हड़कंप

ये हैं मोदी के स्वच्छता अभियान के सिपाही, जिन्होंने अस्पताल में गंदगी देख काटा हंगामा, मचा हड़कंप

Arvind Kumar Verma | Publish: Sep, 05 2018 02:27:33 PM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

महिला अस्पताल में गंदगी का अम्बार देख कार्यरत आशा बहुओं नें विरोध प्रदर्शन कर हंगामा काट दिया। वहीं जिम्मेदार बचते नजर आये।

कानपुर देहात-हालात नही सुधारने वाले, चाहें प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री लाख कोशिशें कर लें लेकिन यहां के हालातों में सुधार होते नही दिख रहा है। दरअसल हम रसूलाबाद की स्वास्थ्य सेवाओं की बात कर रहे हैं। अभी बीते कुछ समय पहले मरीजों की चिकित्सा व्यवस्था को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में हंगामा हुआ था। अब महिला अस्पताल में गंदगी को लेकर बवाल खड़ा हो गया है। दरअसल मोदी जी और योगी जी स्वच्छता अभियान को लेकर सख्त हिदायत दे चुके हैं लेकिन रसूलाबाद के महिला अस्पताल में गंदगी का अंबार है। इसको लेकर आशा बहुओं ने चिकित्साधीक्षक की लापरवाही का बखान करते गए हंगामा काटा दिया और उसी गंदी फर्श पर बैठकर विरोध प्रदर्शन किया। इस बीच प्रशिक्षण दे रहे चिकित्सकों ने भी उनका समर्थन कर विरोध जताया।

 

आशा बहुओं ने काटा हंगामा

दरअसल यह नजारा जनपद कानपुर देहात के रसूलाबाद में बने महिला चिकित्सालय का है, जहां गंदगी को लेकर जागरूक आशा बहुओं ने हंगामा खड़ा कर दिया। आशा बहुओं का कहना है कि दिन भर गर्भवती महिलाओं की सेवा में तत्पर रहने के बाद जब अस्पताल पहुंचो तो चारो तरफ की गंदगी देख कहीं बैठने का स्थान भी नही नजर आता है। दरअसल अस्पताल में प्रशिक्षण कार्यक्रम चल रहा था, उसी दौरान आशा बहुओं और महिला डॉक्टरों ने अस्पताल में गंदगी देखी तो उनसे रहा न गया और हंगामा काट दिया। इनका कहना है कि लगातार सीएचसी चिकित्सा अधीक्षक आशीष वाजपेई से शिकायत की गई लेकिन अस्पताल में सफाई के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति ही होती है।

 

जिम्मेदार बचते नजर आए

उन्होंने कहा कि अस्पताल की दीवारों में चारो तरफ पान मसाला व गंदगी की भरमार है। कोई नही देखने वाला है। इन आशा बहुओं का प्रशिक्षण करा रहे डॉक्टरों से जब बातचीत की तो उन्होंने गोल मोल जवाब देते हुए खुद को बचाते हुए नजर आये। जब हंगामा कर रही आशा बहुओं और महिला चिकित्सकों से बात की तो उन्होंने कहा कि गंदगी इस अस्पताल के लिए कोई नई बात नही है। जबकि अस्पताल में साफ सफाई आवश्यक है लेकिन यहां चारो तरफ गंदगी फैली पड़ी है जमीन तक साफ नही है, जिससे आने वाले तीमारदार कहीं बैठ सकें। कई बार अधीक्षक से कहा गया लेकिन कोई सुनवाई नही होती है, मजबूरन हंगामा करना पड़ रहा है।

Ad Block is Banned