राष्ट्रपति कोविंद का गांव बन रहा मॉडल, युद्ध स्तर पर चल रही कवायद, लेकिन इस चर्चा से लोगों में हलचल

मॉडल बस्ती का विकास करने के लिए हडको ने अनुदान स्वीकृति पत्र एवं एकरारनामा में वर्णित नियम व शर्तें के अंतर्गत जिलाधिकारी को पत्र भेजकर परियोजना के लिए भूमि और उस पर भौतिक अधिकार के स्वामित्व संबंधी दस्तावेज मांगे हैं।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 18 Dec 2018, 06:51 PM IST

कानपुर देहात-भारत के राष्ट्रपति बनने के बाद रामनाथ कोविंद के कानपुर देहात स्थित परौंख गांव को मॉडल गांव बनाने की कवायद जोरों से चल रही है। इसके तहत मॉडल बस्ती का विकास करने के लिए हडको ने अनुदान स्वीकृति पत्र एवं एकरारनामा में वर्णित नियम व शर्तें के अंतर्गत जिलाधिकारी को पत्र भेजकर परियोजना के लिए भूमि और उस पर भौतिक अधिकार के स्वामित्व संबंधी दस्तावेज मांगे हैं। इसके साथ ही योजना की मंजूरी के लिए राज्य सरकार का आदेश भी मांगा है। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने सीडीओ को कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। हालांकि फरवरी माह में महामहिम के पैतृक गांव में उनके आगमन की चर्चा जोर शोर से है।

 

मॉडल बस्ती में कराए जाएंगे ये कार्य

कानपुर देहात के डेरापुर तहसील के अंतर्गत महामहिम रामनाथ कोविंद का पैतृक गांव परौंख स्थित है। गांव को नौ विभागों की योजनाओं से लैस कर मॉडल बस्ती के रूप में विकसित किया जाना है। इसके लिए सभी विभागों ने अपनी कार्य योजना बनाकर शासन स्वीकृति के लिए भेजी है। वहीं हडको (हाउसिंग एंड अर्बन डेवलपमेंट कारपोरेशन लिमिटेड) ने परौंख को मॉडल बस्ती के रूप में विकसित करने के लिए पिछले दिनों 70 लाख रुपए दिए हैं। इसके अंतर्गत बहुउद्देश्यीय हाल, मिलन घर, हैंडपंप, स्ट्रीट लाइट, जल निकासी सहित अन्य विकास कार्य कराए जाने हैं। ताकि मॉडल बस्ती के बाशिंदों को सुविधाएं मुहैया कराई जा सकें।

 

हुडको के प्रबंधक ने मांगे है दस्तावेज

हुडको के महाप्रबंधक राहुलजी श्रीवास्तव ने अनुदान स्वीकृति पत्र 24 अगस्त 2018 एवं अनुदान एकरारनामा 14 नवंबर 2018 में वर्णित टर्म एंड कंडीशन के अंतर्गत दो सूचनाएं देने के लिए बीती 5 दिसंबर को जिलाधिकारी को पत्र भेजा है। महाप्रबंधक ने परियोजना के लिए भूमि और उस पर भौतिक अधिकारी के स्वामित्व से संबंधित दस्तावेज की प्रति तथा राज्य सरकार द्वारा योजना की मंजूरी का आदेश की प्रति मांगी है। ताकि परौंख में मॉडल बस्ती के विकास कार्य को जल्द शुरू कराया जा सके। डीएम राकेश कुमार सिंह ने सीडीओ को कार्यवाही के लिए निर्देशित किया हैं।

 

मुख्य विकास अधिकारी महेंद्र कुमार राय ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर डीडीओ को कार्यवाही के लिए लिखा गया है। परौंख को जल्द मॉडल बस्ती के तौर पर विकसित कराया जाएगा।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned