मंत्री पचौरी ने कहा बुआ-बबुआ की होगी हार, फूलपुर और गोरखपुर सीट पर खिलेगा कमल

Vinod Nigam

Publish: Mar, 14 2018 11:10:39 AM (IST)

Kanpur, Uttar Pradesh, India
मंत्री पचौरी ने कहा बुआ-बबुआ की होगी हार, फूलपुर और गोरखपुर सीट पर खिलेगा कमल

गोरखपुर और फूलपुर में चल रही मतगणना, भाजपा मंत्री ने जीत का किया दावा

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी ने फूलपुर और गोरखपुर में चल रही मतगणना के दौरान कहा कि गोरखपुर और फूलपुर की जनता योगी सरकार के कार्यो से प्रभावित होकर भाजपा को वोट दिया है। दोनों सीटों पर कमल खिलेगा और गठबंधन करनी वाले बुआ और बबुआ की करारी हार होगी। मंत्री सत्यदेव पचौरी ने कहा कि एक साल के दौरान यूपी की सरकार ने जनहित के कार्य किए। अपराधियों को जेल भेजा गया, किसानों का कर्जा माफ कर युवाओं को रोजगार दिया गया। सड़क, बिजली, पानी और सुरक्षा जैसी मूलभूति सुविधाएं यहां के लोगों मुहैया कराई जा रही हैं और इसी के चलते हमें विश्वास है कि उपचुनाव के अलावा 2019 के लोकसभा चुनाव में 80 में से 80 सीटें भाजपा जीतेगी।
विकास के बल पर जीत रहे दोनों सीट
फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए मतदान शुरू हो गया है। दोनों सीटों पर बीजेपी और सपा के बीच कांटे का मुकाबला है। फूलपुर में बीजेपी के कौशलेंद्र पटेल और बसपा समर्थित सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल के बीच मुकाबला माना जा रहा है। जबकि कांग्रेस के मनीष मिश्रा और बाहुबली अतीक अहमद भी निर्दलीय मैदान में हैं। वहीं, गोरखपुर में बीजेपी के उपेंद्र शुक्ला और बसपा समर्थित सपा प्रत्याशी प्रवीण निषाद और कांग्रेस की सुरहिता करीम मैदान में हैं। मतदान के दौरान जब यूपी के कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी से उपचुनाव में बारे में बात की गई तो उन्होंने कहा कि जनता ने विकास के काम पर वोट दिया है और हमें सौ फीसदी विश्वास है दोनों सीटों पर भाजपा के प्रत्याशियों की विजय होगी।
गठबंधन की निकल जाएगी हवा
मंत्री सत्यदेव पचौरी ने कहा कि फूलपुर लोकसभा सीट पर 2014 के लोकसभा चुनाव में 100 में से 53 वोट बीजेपी को मिले थे और 47 फीसदी वोट सपा, बसपा सहित सारे विपक्षी दलों के मिले थे.। उसी तर्ज पर उपचुनाव में भी होगा और नतीजा बीजेपी के पक्ष में होगा। उन्होंने कहा कि मोदी के विजय रथ को रोकने के लिए जो सपा-बसपा ने गठबंधन किया है, जिसका हवा उपचुनाव में ही निकल जाएगी। फूलपुर और गोरखपुर दोनों लोकसभा सीट पर बीजेपी उम्मीदवार भारी मतों से जीत दर्ज करेंगे। कहा कि मोदी लहर अभी भी कायम है और 2019 में भी रहेगी और इसी डर से पूरा विपक्ष एकजुट हो रहा है, लेकिन कोई फायदा मिलने वाला नहीं है। देश में मोदी के विकास को जनता स्वीकार रही है।
महंत के दुर्ग में खिलेगा कमल
गोरखपुर बीजेपी की परंपरागत सीट मानी जाती है, इसीलिए गोरखपुर को बीजेपी का दुर्ग कहा जाता है। महंत अवैद्यनाथ ने 1989 में हिंदु महासभा के टिकट पर चुनाव के जीत का जो सिलसला शुरू किया, वह आज भी जारी है। महंत अवैद्यनाथ गोरखपुर से चार बार सांसद रहे, 1970 में निर्दलीय, 1989 में हिंदु महासभा, और फिर 1991 व 1996 में बीजेपी से लोकसभा सदस्य बने। गोरखुपर में महंत अवैद्यनाथ की राजनीतिक विरासत को योगी आदित्यनाथ ने 1998 में संभाला तो फिर पलटकर नहीं देखा। पिछले पांच बार से लगातार योगी बीजेपी के टिकट से संसद पहुंचते रहें। इसी के चलते यूपी के मंत्री सत्यदेव पचौरी ने नतीजा आने से पहले इस सीट पर कमल खिलने का एलान कर दिया। मंत्री ने कहा कि गोरखपुर से खुद सीएम योगी सांसद थे और वहां पर उन्होंने विकास का रथ घुमाया और इसी के चलते जनता कमल के पक्ष में हर चुनाव में मत मिलते रहे हैं।
पीछे चलने के बाद भी जीत का विश्वास
फूलपुर सीट पर एसपी का भी मजबूत जनाधार है। यही वजह है कि 1996 से लेकर 2004 तक समाजवादी पार्टी का उम्मीदवार यहां से लगातार जीतता रहा है। फूलपुर लोकसभा सीट से कुर्मी समाज के कई सांसद बने हैं. प्रो. बी.डी. सिंह, रामपूजन पटेल (तीन बार), जंग बहादुर पटेल (दो बार) एसपी के टिकट पर सांसद रह चुके हैं। इसके बाद एसपी ने 2004 के लोकसभा चुनाव में अतीक अहमद को फूलपुर से प्रत्याशी बनाया जो विजयी रहे, लेकिन इसके बाद 2009 के चुनाव में बीएसपी के टिकट पर पंडित कपिल मुनि करवरिया चुने गए और 2014 में बीजेपी के केशव प्रसाद मौर्य यहां से सांसद बनें। फूलपुर सीट पर भाजपा प्रत्याशी के पीछे चलने के सवाल पर मंत्री सत्यदेव पचौरी ने कहा कि हम चुनाव प्रचार के दौरान वहां गए थे। जनता डिप्टी सीएम के साथ भाजपा के साथ कदम से कदम मिलाकर चल रही है। भाजपा दोनों सीटों पर एक लाख से ज्यादा वोटों से विजयी होंगे।

 

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned