मायावती को करारा झटका, दो दर्जन से ज्यादा बसपाई पार्टी छोड़ेंगे

मायावती को करारा झटका, दो दर्जन से ज्यादा बसपाई पार्टी छोड़ेंगे

Alok Pandey | Updated: 12 Oct 2019, 12:11:04 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर के कुशवाहा बंधुओं की विदाई के बाद पार्टी में भगदड़ की स्थिति

कानपुर। मायावती की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। उनके सियासी भविष्य को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जाने लगे हैं। पहले २०१४ के लोकसभा चुनाव में सूपड़ा साफ होने के बाद यूपी के विधानसभा चुनावों में कोई खास फायदा नहीं हुआ। २०१९ के आम चुनावों ने भी उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया। अब कानपुर की गोविंदनगर विधानसभा उपचुनाव में भी चुनाव से ज्यादा मशक्कत संगठन संभालने के लिए करनी पड़ रही है। जिले का संगठन भितरघात से जूझ रहा है और बसपाई चुनाव से ज्यादा एक दूसरे पदाधिकारी की टांग खींचने में लगे हैं। इसी बीच पार्टी छोडऩे और निकाले जाने वाले नेताओं के समर्थक भी पार्टी से दूरी बनाने लगे हैं।

कुशवाहा बंधुओं को निकाले जाने से हिली सियासी जमीन
आरपी कुशवाहा और सुरेंद्र कुशवाहा के निष्कासन के बाद उनके समर्थकों में जबरदस्त गुस्सा है। हालांकि दोनों नेताओं ने मीडिया में जारी अपने बयान में कहा था कि पार्टी की नीतियों और नेताओं के रवैये से दुखी होकर उन्होंने अपना इस्तीफा पार्टी मुखिया को पहले फैक्स कर दिया था। इसके बाद निष्कासन की सूचना जारी की गई। उन्हें पार्टी से निकाला नहीं गया, बल्कि उन्होंने खुद पार्टी छोड़ी है। इस खबर के बाद इनके समर्थक भी पार्टी के विरोध में खड़े हो गए। पूर्व महानगर अध्यक्ष सुरेंद्र कुशवाहा के मुताबिक दोनों नेताओं के करीब दो सैकड़ा से ज्यादा नेताओं व पदाधिकारियों ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया। इसमें पूर्व मंडल जोन इंचार्ज बुंदेलखंड अवधेश कुरील, जीतू पैंथर, अमरनाथ बाल्मीकि, केके कुशवाहा, रीता कुशवाहा, देवेंद्र कुशवाहा, दिनेश कुशवाहा शामिल हैं।

गालियों वाला ऑडियो हुआ वायरल
पार्टी में हो रही टूट के बीच वर्तमान मुख्य जोनल इंचार्ज जितेंद्र संखवार के एक ऑडियो ने भी हलचल मचा रखी है। इस ऑडियो में संखवार की कथित आवाज में पार्टी नेताओं को गालियां देने हुए सुनाया गया है। इस मामले पर सफाई देते हुए जितेंद्र ने बताया कि यह ऑडियो २०१४ में भी जारी हुआ था, जिसकी जांच के बाद साबित हो गया था कि यह उनकी आवाज नहीं है। अब इसे फिर से हथियार बनाकर इस्तेमाल किया जा रहा है।

कई बड़े नाम भी पार्टी से बाहर होंगे
पूर्व जोनल इंचार्ज अनुभव चक के बाद कुशवाहा बंधुओं के पार्टी छोड़े जाने के बाद दो सैकड़ा कार्यकर्ताओं के इस्तीफे की खबर ने जिला इकाई के कई दिग्गजों की नींद उड़ा दी है। पार्टी के भीतर खेमेबाजी और तेज हो गई है। संभावित है कि सियासी भविष्य को बचाने के लिए जिले में पार्टी का चेहरा माने वाले जाने वाले कई और बड़े नेता भी पार्टी से दूरी बना सकते हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned