मुस्लिम महिलाओं ने मोदी के पक्ष में भरी हुंकार, गुजरात में कमल खिलाने के लिए की फरियाद

Ashish Pandey

Publish: Dec, 07 2017 08:11:28 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
मुस्लिम महिलाओं ने मोदी के पक्ष में भरी हुंकार, गुजरात में कमल खिलाने के लिए की फरियाद

पीएम मोदी के समर्थन में मुस्लिम महिलाओं में कई तीन तलाक पीड़िता भी थीं। जिनके आंखों में खुशी के आंसू छलक रहे थे।

कानपुर. उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव में भाजपा के पक्ष में मुस्लिम महिलाएं जमकर बाहर निकलीं और अपना वोट देकर सूबे में कमल खिलाया। गुजरात में चल रहे चुनाव के लिए कानपुर की सैकड़ों मुस्लिम महिलाएं सड़क पर उतरीं और पीएम मोदी के पक्ष में जमकर नारेबाजी कर कमल को वोट देने की फरियाद की। रेहाना वारसी ने कहा कि मोदी सरकार ने जिस तरह से त्रिपल तलाक पर हमें न्याय दिलाया है, इससे हमारी स्थित सुधरेगी। निकाय में महिलाओं ने कमल को वोट दिया है और गुजरात में हम अपने समुदाय की महिलाओं से अपील करते हैं कि वो भाजपा को वोट देकर वहां भी कमल खिलाएं। कुछ महिलाएं गुजरात भी गई हैं और महापौर के साथ प्रचार कर रही हैं।
सड़क पर दिखा हुजूम
हाथो में मोदी के जयकारे और बीजेपी को वोट की अपील वाली तख्तियां हाथो में लेकर सैकड़ों महिलाएं गुरूवार को सड़क पर उतरीं और गुजरात में भाजपा के पक्ष में वोटिंग करने की अपील की। महिलाओं ने कहा कि आजादी के सत्तर साल बीत जाने के बाद किसी भी राजनीतिक दल ने हमारी सुधि नहीं ली। पीएम मोदी सत्ता में आने के बाद हमारे बारे में सोचा और त्रिपल तलाक से हमें आजादी दिलवाई। रेहाना के मुताबिक ट्रिपल तलाक को ख़त्म करके मोदी सरकार ने एक ऐसा सख्त कदम उठाया है जिसका भले ही मुस्लिम पर्सनल लॉ विरोध करे लेकिन यूपी के चुनाव में मुस्लिम महिलाओं ने बीजेपी को समर्थन देके साबित कर दिया था कि वे इसके पक्ष में है और मोदी की प्रशसंक बन चुकी है। अब वक्त आ गया है कि वे खुलकर सामने आये और गुजरात में बीजेपी की सरकार बनाने के लिए गुजरात की मुस्लिम महिलाओं को प्रेरित करें।
पीड़िताओं ने पीएम मोदी के लिए पढ़े कसीदे
पीएम मोदी के समर्थन में मुस्लिम महिलाओं में कई तीन तलाक पीड़िता भी थीं। जिनके आंखों में खुशी के आंसू छलक रहे थे। रूखसाना ने बताया कि पति ने शादी के एक साल बाद खत के जरिए त्रिपल तलाक दे दिया। मजबूर माता-पिता के घर पर जिंदगी गुजार रही हूं। लेकिन त्रिपल पर कानून बनने के बाद अब ऐसे जालिम पतियों को सजा मिलेगी। रूखसाना ने कहा कि कोई राजनैतिक सरपरस्त ना मिलने के कारण वे अबतक सब कुछ जुल्म सहती आयी थी लेकिन अब उन्हें सत्ता रूढ़ पार्टी का राजनैतिक आसरा मिला है तो वे इस अवसर को खोना नहीं चाहेगी और रूढ़वाद से मुस्लिम समाज को बाहर निकालने वाले भाजपा का समर्थन करेंगी।
गुजरात की मुस्लिम बहनों के नाम भेजा खत
कानपुर की मुस्लिम महिलाओं ने गुजरात की मुस्लिम बहनों के नाम एक खुला पत्र भी तैयार किया है जिसकी एक लाख प्रतिया गुजरात में बाटने के लिए भेजी जा रही हैं। फैजाना ने बताया कि शुक्रवार को खत को सीधे गुजरात के लिए भेज देंगे। मुस्लिम बाहूल्य इलाकों में वहां के कार्यकर्ता महिलाओं तक पहुंचाएंगी। मुस्लिम महिलाओं ने कहा कि निकाय चुनाव में भाजपा को हमने निडर होकर अपना वोट दिया। इसलिए हम गुजरात की बहनों से अपील करती हैं कि मौलवियों और कॉजियों के बहकावे में न आएं। भाजपा सेकुलरवादी पार्टी है, वहीं कांग्रेस फूट डालो और राज करो की नीति पर काम कर रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned