कानपुर में नाम बदलकर युवक ने महिला से की शादी, जिस्मफरोशी के लिए उस पर बनाया दबाव

आरोप है कि शादी के दो साल बाद नौकरी छूटने के बाद मकसूद ने पीड़िता पर नौकरी करने या फिर जिस्म फरोशी का धंधा करने का दबाव बनाया।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 22 Nov 2020, 10:16 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

कानपुर-पैसे के लालच में कल्याणपुर निवासी मुस्लिम समुदाय के युवक मकसूद अली ने नाम बदलकर नौबस्ता की एक हिन्दू महिला को धोखे में रखकर शादी कर ली। महिला उस वक्त प्राइवेट नौकरी करती थी। बताया गया कि 11 वर्ष पहले युवक ने यह शादी की और उसे धोखे में रखा। महिला उस वक्त प्राइवेट नौकरी करती थी। आरोप है कि शादी के दो साल बाद नौकरी छूटने के बाद मकसूद ने पीड़िता पर नौकरी करने या फिर जिस्म फरोशी का धंधा करने का दबाव बनाया। बावजूद रिश्ते निभाने को लेकर महिला उसकी मंशा के अनुसार उसे पैसे देती रही। लेकिन जब महिला को युवक का अन्य युवती से संबंध होने की जानकारी मिली तो पुलिस से शिकायत की। वहीं जानकारी मिलने पर मामले को लेकर बजरंग दल ने थाने में हंगामा भी काटा था।

इलाके में रहने वाली महिला ने बताया कि मकसूद ने अपना नाम समीर बताकर उससे दोस्ती की थी। इसके बाद प्रेमजाल में फंसाकर उससे शादी कर ली। शादी के बाद भी कई बार कहने पर परिवार से नहीं मिलवाया। शादी के दो साल बाद उसे मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। फिर वह किसी भी तरह कमाई करने का दबाव बनाने लगा। इस पर वह प्राइवेट नौकरी करने लगी और मकसूद को 4.5 लाख रुपये भी दिए। जिससे उसने कार खरीदी।

आरोप है कि मकसूद ने बैंक से क्रेडिट कार्ड भी लिया, जिससे 80 हजार रुपये निकालकर अय्याशी में खर्च किए। बाद में बैंक का बकाया भी उसके माथे मढ़ दिया। आरोप लगाया कि मकसूद ने दिल्ली में किसी हिंदू लड़की को प्रेमजाल में फंसा लिया है। पुलिस ने मकसूद के खिलाफ धोखाधड़ी, दहेज उत्पीड़न, भरोसा तोड़ना, जान से मारने की धमकी, धोखा देकर शादी करने समेत अन्य गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की है।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned