विकास दुबे कांड में आया नया मोड़, अमर की पत्नी को लेकर पुलिस कार्रवाई पर खड़े किए गए सवाल

इस घटना में पुलिस क्षेत्राधिकारी एवं दरोगा समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हुए थे।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 13 Aug 2020, 08:35 PM IST

कानपुर देहात-बीते दिनों जनपद कानपुर के चौबेपुर थानाक्षेत्र के विकरु गाँव मे बीती 2 जुलाई को हुए बहुचर्चित बड़े कांड में नया मोड़ आ गया है। इस मामले में जेल में बन्द खुशी जोकि कुख्यात बदमाश विकास दुबे के दाहिने हांथ अमर दुबे की पत्नी है। उसे पुलिस ने बीती 8 जुलाई को हिरासत में ले लिया था। घटना के वक्त खुशी अमर दुबे के साथ थी और पुलिस ने उसे अमर दुबे के घर से ही गिरफ्तार किया था। खुशी की अमर दुबे से शादी बीती 29 जून को हुई थी और 2 जुलाई की देर रात जब पुलिस कुख्यात अपराधी विकास को गिरफ्तार करने गई तो विकास ने अपने तमाम साथियों के साथ मिलकर पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग की।

इस घटना में पुलिस क्षेत्राधिकारी एवं दरोगा समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हुए थे। प्रत्यक्षदर्शी मनु पांडे ने पुलिस को गवाही देते हुए बताया था कि अमर दुबे ही वह शख्स था, जिसने क्षेत्राधिकारी देवेंद्र मिश्रा की नृसंश हत्या की थी। क्षेत्राधिकारी पर ताबड़तोड़ फायरिंग करने के बाद उनके पांव का पंजा भी धारदार हथियार से अमर ने ही काटा था। अब इस मामले में अधिवक्ता शशिकांत ने डकैती कोर्ट में एप्लीकेशन देते हुए खुशी की उम्र पर सवाल खड़े किए हैं।

अधिवक्ता द्वारा कोर्ट में खुशी की पांचवीं व दसवीं की मार्कशीट पेश की गई है। जिसके अनुसार खुशी 16 वर्ष 10 माह की है। ऐसे में खुशी को 302 का आरोपी बनाकर जेल भेजने पर अधिवक्ता द्वारा पुलिसिया कार्रवाई पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। साथ ही इस मामले में सुनवाई करते हुए न्यायालय द्वारा दस्तावेजों की जांच कराई जा रही है। अधिवक्ता शशिकांत ने बताया कि खुशी पर पुलिस की कार्रवाई गलत है और सभी तथ्य न्यायालय के सामने पेश किए जा रहे हैं।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned