यहाँ हालात हैं बदस्तूर, मुसीबतों से गुजर रहे ग्रामीण, पीएम मोदी के अभियान को लग रहा पलीता

Arvind Kumar Verma

Updated: 30 Jun 2019, 01:20:08 PM (IST)

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर देहात-जहाँ एक ओर भारत सरकार के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे भारत को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती पर खुले में शौचमुक्त स्वच्छ भारत और स्वस्थ भारत का संकल्प लिया था। साथ ही उन्होंने अपने प्रत्येक सांसद और मंत्री को अपने क्षेत्रों में इस अभियान को पूरा करवाने का संकल्प लिया था। वहीं पर जनपद कानपुर देहात की ग्राम सभा खरका किशनपुर के मजरों किशनपुर, खरतला और जरी में प्रधान के द्वारा एक भी शौचालय किसी भी लाभार्थी को नहीं दिए गए। जिससे शौंच के लिए औरतों व बच्चों सहित सभी ग्रामीणों को लोटा लेकर खुले में जाना पड़ता है। वहीं पर ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान के द्वारा इन गाँवों में आवास, शौंचालय, हैंडपम्प, सड़कें, रीबोर व नाली आदि कोई विकास कार्य न करवाने का आरोप लगाया है।

 

ग्रामीणों का आरोप है कि इसकी शिकायत जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी से करने के बाबजूद भी दोषी पाए जाने पर भी ग्राम प्रधान के ऊपर कोई कार्रवाई नहीं होती है। वहीं लोगों ने दबी जुबान ग्राम प्रधान को सत्ताधारियों का संरक्षण प्राप्त होने की बात कही। इसी कारण ग्रामप्रधान ने सिर्फ अपने ही गाँव खरका में विकास कार्य करवाया है। देखा जाए तो प्रधानमंत्री विकास कार्य के लिए ग्राम सभाओं को धन मुहैया करा रहे हैं, वहीं उनके सांसदों और मंत्रियों के संरक्षण में उनके गुर्गे विकास कार्य के धन को अपना निजी धन समझकर अपनी जेबें भरने में लगें हैं। इस संबंध में सीडीओ ने कहा कि ग्रामसभा खरका व मजरों में विकास कार्य न होने की जानकारी मिली है। इसकी जांच कराकर शौंचालय, पेयजल आदि अन्य विकास कार्य कराए जाएंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned