कानपुर देहात सहित दोनो जनपदों में कोरोना जांच की होगी अब बेहतर सुविधा, बीएसएल-टू लैब होगी स्थापित

डेढ़ माह में लैब तैयार की जानी है। इन लैब का तात्पर्य है कि कोरोना संक्रमण के आरटीपीसीआर जांच की सुविधा बेहतर मिल सके।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 24 Jul 2021, 11:40 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बाद अब तीसरी लहर को के लिए तैयारी जोरों पर चल रही है। पिछला मंजर देखते हुए अब सरकार सक्रिय है। इसके चलते कोरोना वायरस के जांच की क्षमता बढ़ाई जा रही है। इसी वजह से शासन ने कानपुर देहात एवं फर्रुखाबाद जिले में बायो सेफ्टी लेवल-2 (बीएसएल-टू) लैब स्थापित करने का फैसला किया है। डेढ़ माह में लैब तैयार की जानी है। जबकि औरैया जिले में लैब बनकर तैयार हो गई है। इन लैब का तात्पर्य है कि कोरोना संक्रमण के आरटीपीसीआर जांच की सुविधा बेहतर मिल सके।

विशेषज्ञों द्वारा कोरोना तीसरी लहर अगस्त-सितंबर में आने की संभावना जताई जा रही हैं। शासन इसकी तैयारी को लेकर पहले से सतर्क है। इसलिए कोरोना की आरटीपीसीआर जांच की क्षमता बढ़ाई जा रही है। अभी तक कानपुर मंडल में सरकारी क्षेत्र में सिर्फ कानपुर के जीएसवीएम मेडिकल कालेज और इटावा जिले के सैफई स्थित उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय में जांच की सुविधा है। इसलिए कोरोना की अभी तक दोनो लहर में निजी लैब पर भी निर्भरता रही।

जनपद औरैया में बीएसएल-टू लैब तैयार हो गई है। इस लैब में अभी रोजाना 300 सैंपल की आरटीपीसीआर जांच की क्षमता है। फिलहाल इसे बढ़ाया जाना है। कानपुर मंडल के एडी हेल्थ डॉ. जीके मिश्रा शासन ने मंडल के तीन जिलों में बीएसएल-टू लैब स्थापित करने का निर्णय लिया है। उसमें से औरैया में लैब बनकर तैयार हो चुकी है। कानपुर देहात एवं फर्रुखाबाद जिले में डेढ़ माह में लैब स्थापित कर दी जाएगी।

COVID-19 COVID-19 virus
Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned