IRCTC और सर्विस प्रोवाइडर पोर्टल्स की वजह से महंगा होगा ऑनलाइन टिकट बुक कराना

आईआरसीटीसी और टिकट बुकिंग की सर्विस प्रोवाइड कराने वाले अन्य पोर्टल्स के बीच की खींचतान में आम रेलवे पैसेंजर पिसने वाला है.

By: आलोक पाण्डेय

Published: 24 Jul 2018, 12:51 PM IST

कानपुर। आईआरसीटीसी और टिकट बुकिंग की सर्विस प्रोवाइड कराने वाले अन्य पोर्टल्स के बीच की खींचतान में आम रेलवे पैसेंजर पिसने वाला है. जी हां, अब रेलवे पैसेंजर्स को आईआरसीटीसी की वेबसाइट के अलावा दूसरे पोर्टल से रेल टिकट बुक कराना पहले से ज्यादा मंहगा पड़ेगा. क्योंकि आईआरसीटीसी ने सर्विस प्रोवाइड कराने वाले दूसरे पोर्टल्स पर 12 रुपए प्रति टिकट एक्स्ट्रा चार्ज लगाने का फैसला लिया है. आईआरसीटीसी पीआरओ सिद्धार्थ सिंह के मुताबिक इस एक्स्ट्रा चार्ज के साथ ही पैसेंजर को टैक्स अलग से देना होगा. नए आदेश के बाद पैसेंजर्स को अब दूसरे पोर्टल्स व वेबसाइट से टिकट बुक करने में प्रति टिकट 25 से 30 रुपए एक्स्ट्रा पेमेंट करना होगा.

ऐसा बताया अधिकारियों ने
आईआरसीटीसी अधिकारियों के मुताबिक अभी तक आईआरसीटीसी रेल टिकट बुक करने वाली अदर वेबसाइट्स से फ्लैट सालाना मेंटीनेंस चार्ज लेता था. आईआरसीटरीसी के प्रस्तावित आईपीओ से पहले कंपनी का यह फैसला रेवेन्यू जुटाने के एक नए तरीके के तौर पर देखा जा रहा था. हालांकि आईआरसीटीसी के एक्स्ट्रा चार्ज लगाने के फैसले से सर्विस प्रोवाइडर्स कंपनियां खुश नहीं हैं.

लिए जाते थे सर्विस चार्ज
आईआरसीटीसी अधिकारियों के मुताबिक अभी तक आईआरसीटीसी रेल टिकट बुक करने वाले पोर्टल से प्रतिदिन टिकट के हिसाब से चार्ज नहीं लेती था. इसके बावजूद पोर्टल से टिकट बुक कराने में प्रत्येक पैसेंजर से सर्विस चार्ज के रूप में 10 से 15 रुपए अतिरिक्त लिया जाता था. आईआरसीटीसी के नए नियम लागू होने के बाद अब पैसेंजर को दूसरे पोर्टल्स से रेल टिकट बुक कराने में 25 से 30 रुपए अधिक देना होगा.

पैसेंजर्स की जेब पर पड़ेगा डाका
आईआरसीटीसी वेबसाइट के इस फैसले से लाखों रेलवे पैसेंजर्स की जेब ढीली होगी. आंकड़ों पर नजर डाले तो ऑनलाइन रेल टिकट बुक कराने वाले पैसेंजर्स में लगभग 55 से 60 परसेंट पैसेंजर्स आईआरसीटीसी के बजाय दूसरे अन्य पोर्टल व वेबसाइट के जरिए रेल टिकट बुक कराते हैं.

ऐसा कहना है अधिकारी का
आईआरसीटीसी के पीआरओ सिद्धार्थ सिंह कहते हैं कि आईआरसीटीसी यह चार्ज सर्विस प्रोवाइडर्स कंपनियों से लेगा. जोकि वह सालों से पैसेंजर्स से लेते आ रहे हैं. अगर अब वह यात्रियों से चार्ज बढ़ा कर लेते हैं तो यह उनके फैसले पर डिपेंड करेगा.

आलोक पाण्डेय
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned