अटल की पौत्री समेत एक दर्जन हस्तियां लेंगी अंगदान का संकल्प

अटल की पौत्री समेत एक दर्जन हस्तियां लेंगी अंगदान का संकल्प

Alok Pandey | Updated: 14 Aug 2019, 01:08:02 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

आजादी पर्व पर मेडिकल कालेज में देह की वसीयत देश के नाम कार्यक्रम
गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कॉलेज में आयोजित होगा कार्यक्रम

कानपुर। स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर बुधवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी की पौत्री नंदिता समेत शहर की कई हस्तियां अंगदान का संकल्प लेंगी। युग दधीचि देहदान की मुहिम के तहत आयोजित देह की वसीयत देश के नाम कार्यक्रम के दौरान इस नेक काम में नंदिता के पति सुमित मिश्र भी उनका साथ देंगे। यह कार्यक्रम पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी की प्रथम पुण्यतिथि से पूर्व गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कॉलेज में आयोजित होगा।

नंदिता ने पिता से ली प्रेरणा
सामाजिक गतिविधियों में सक्रिय नंदिता ने पिता से प्रेरित होकर यह फैसला लिया है। उनके पिता नवीन वाजपेयी ने नेत्रदान किया था। पूर्व प्रधानमंत्री के बड़े भाई कृष्ण बिहारी वाजपेयी के बेटे नवीन वाजपेयी की बेटी नंदिता का विवाह सराफा कारोबारी राजेंद्र मिश्र बब्बू की बेटे सुमित मिश्र से हुआ है।

कई हस्तियंा होंगी शामिल
मेडिकल कॉलेज के लेक्चरर थियेटर तीन में युग दधीचि देहदान की मुहिम के तहत आयोजित देह की वसीयत देश के नाम कार्यक्रम दोपहर 3:30 बजे होगा। जिसमें भाजपा विधायक नीलिमा कटियार, भाजपा दक्षिण जिला अध्यक्ष अनीता गुप्ता, आईएमए की अध्यक्ष डॉ. अर्चना भदौरिया, अपोलो इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी के महानिदेशक डॉ. मजहर नकवी व फतेहपुर के मोहम्मद रईस भी अंगदान करने संकल्प लेंगे।

२००३ में हुआ था पहला कार्यक्रम
यह मुहिम उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल विष्णुकांत शास्त्री की प्रेरणा से चलाई गई। पहला कार्यक्रम 15 नवंबर 2003 को जाजमऊ स्थित जेके कालोनी पार्क में आयोजित किया गया था। कार्यक्रम संयोजक मनोज सेंगर ने बताया कि अब तक 3000 लोग देहदान का संकल्प ले चुके हैं। संकल्प लेने वालों में आजाद हिंद फौज की मानवती आर्या, सुभाषिनी अली, मानस संगम के संस्थापक बद्रीनारायण तिवारी भी हैं।

1000 ने ली शपथ
मनोज सेंगर कहते हैं कि 1000 लोग अंगदान की शपथ ले चुके हैं। अंगदान में आंख, हृदय, किडनी, लिवर, स्किन, फेफड़े शामिल हैं। किसी भी व्यक्ति का ब्रेन डेड होने पर अंगदान होता है। आजाद सिंह फौज की लेफ्टिनेंट लक्ष्मी सहगल, कवि प्रतीक मिश्र, साहित्यकार उग्रसेन चतुर्वेदी, सरदार मनजीत सिंह, सोमबाई देवी समेत कई हस्तियों का देहदान किया जा चुका है। संस्था द्वारा तक 210 देह कराए जा चुके हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned