कोरोना का खौफ: ट्रेन में यात्री को आयी खांसी को उसका किया यह हाल

यात्री को ३ घंटे तक ट्रेन के टॉयलेट में रखा गया बंद
कानपुर सेंट्रल पर उतारकर जांच में निकला सामान्य

कानपुर। कोरोना वायरस का खौफ लोगों के सिर पर इस कदर चढ़ा हुआ है कि वे हर खांसी-जुकाम वाले मरीज को कोरोना पीडि़त समझकर उससे दूर भागने लगे हैं। ऐसा ही कुछ एक ट्रेन यात्री के साथ तब हुआ जब उसे ट्रेन में बैठे हुए अचानक खांसी आ गई। फिर उस यात्री के साथ जो कुछ हुआ, उसकी उम्मीद भी नहीं थी।

महाबोधि एक्सप्रेस में बैठा था
दुबई से लौटा एक यात्री दिल्ली से कानपुर आ रही महाबोधि एक्सप्रेस पर सवार होकर बिहार जा रहा था। यात्री को रास्ते में खांसी आ गई तो बोगी के सहयात्री इतना डर गए कि उसे कोरोना संक्रमित समझकर टॉयलेट में बंद कर दिया। कानपुर सेंट्रल पहुंचने पर सुरक्षा बलों की मदद से यात्री को टॉयलेट से निकालकर प्लेटफार्म पर उतारा गया। यात्री महाबोधि एक्सप्रेस के एसी सेकेंड क्लास (ए-2, बर्थ-6) में सफर कर रहा था।

अचानक मच गया हंगामा
यात्री ने बताया कि दिल्ली से चलने के बाद उसे खांसी आ गई। यह देख दूसरे यात्री उसे कोरोना संक्रमित समझने लगे। इतने में बोगी में हंगामा हो गया। इसकी सूचना सेंट्रल स्टेशन को दी गई। स्वास्थ्य विभाग ने मौके पर दो एंबुलेंस पहुंचा दीं। डाक्टरों की जांच में वह सामान्य निकला। बाद में गया का टिकट लेकर यात्री दूसरी ट्रेन से घर गया।

एयरपोर्ट पर स्कैनिंग में सब ठीक था
यात्री मो. रियाज अंसारी दुबई से स्वदेश लौटे थे। उन्होंने बताया कि एयरपोर्ट पर उनकी थर्मल स्कैनिंग हुई जिसमें वह सामान्य निकले। इसके बाद महाबोधि एक्सप्रेस से वह गया जा रहे थे। लगातार सफर से उनकी आंखें लाल हो गईं। दिल्ली से जब ट्रेन चली तो रास्ते में उन्हें खांसी आ गई।

दुबई के नाम पर फैल गया खौफ
रियाज ने बताया कि वह लोगों को बता चुके थे कि दुबई से लौटे हैं। दुबई में कोराना संक्रमण फैला होने की खबर से लोग सशंकित हो गए। सह यात्रियों ने उन्हें कोरोना संदिग्ध समझ लिया और पकडक़र टॉयलेट में बंद कर दिया। बोगी में अफरातफरी मच गई। एक यात्री ने सेंट्रल स्टेशन पर फोन कर दिया कि कोरोना संक्रमित यात्री सफर कर रहा है।

आलोक पाण्डेय
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned