कमलरानी वरुण का यह वाकया याद कर रहे लोग, जिसे सुनकर हैरान रह गए थे लोग, कुछ ऐसा था व्यक्तित्व

कुछ दिन पूर्व का ही उनका वाकया आज भी लोग याद कर नम हो गए।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 03 Aug 2020, 04:22 PM IST

कानपुर देहात-अपने सरल एवं सौहार्द व्यक्तित्व से लोगों का दिल जीतने वाली बीजेपी की जुझारू विधायक एवं मंत्री कमलरानी वरुण का रविवार को निधन हो गया। उनके जाने के बाद क्षेत्र के लोगों में मायूसी छाई हुई है। लोगों को सही राह के लिए प्रेरित करना उनका स्वभाव था। राजनीति में पार्टी के लिए महत्वपूर्ण योगदान देने के साथ लोगों को जोड़ने का उनमें हुनर था। लोगों को इसके लिए मिलते जुलते मशविरा दिया करती थी। कुछ दिन पूर्व का ही उनका वाकया आज भी लोग याद कर नम हो गए। जब कैबिनेट मंत्री बनने के बाद उन्होंने सभी को बधाई दी। वहीं मंत्री बनने के बाद जब पहली बार कानपुर पहुंची तो कमलरानी वरुण का लोगों ने जोरदार स्वागत किया। अपने क्षेत्र में भ्रमण करते हुए लोगों की बधाई बटोर रहीं थीं।

इस दौरान गुजरते हुए बिधनू स्थित सीएचसी के बाहर उनके समर्थकों की भीड़ खड़ी थी। अपने काफिले के साथ वो रुकी तो लोगों ने उनका स्वागत किया। उस दौरान अस्पताल में राष्ट्रीय कृमि मुक्त दिवस कार्यक्रम होना था। इस पर चिकित्सकों ने कार्यक्रम शुभारंभ के लिए आग्रह किया। मुस्कराते हुए आगे बढ़ीं तो चिकित्सकों ने फीता काटने के लिए कैंची देते हुए फीता काटने का आग्रह किया तो उन्होंने फीता काटने से मना कर दिया। सभी लोग चौकन्ना हो गए।

फिर वो बोलीं काटना अच्छी बात नहीं होती है, चीजों को जोड़ना चाहिए, इससे खुशियां फैलती है और चारो तरफ खुशहाली आती है। इसके बाद उन्होंने बंधे फीते की एक तरफ की गांठ खोलकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। फिर उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद स्कूली बच्चो को अल्बेंडाजॉल की गोलियां अपने हांथ से खिलाकर उनका उत्साहवर्धन किया। उनके निधन के बाद उनके जीवन का सफर तो ख़तम जरूर हुआ लेकिन उनके ऐसे वाकया लोगों को लंबे अरसे तक उनकी याद दिलाते रहेंगे।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned