सुगंध से भी संवरेगी जिंदगी, ग्रह-नक्षत्र बदलेंगे आपकी किस्मत

सुगंध से भी संवरेगी जिंदगी, ग्रह-नक्षत्र बदलेंगे आपकी किस्मत

Alok Pandey | Updated: 14 Jul 2019, 01:38:44 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

रत्न के अलावा सुगंध की विधा से सुधर रहा लोगों का जीवन
सुगंध पर आधारित ज्योतिष में शहर के दो युवा हुए पारंगत

कानपुर। जीवन को सही राह पर रखने के लिए ग्रह-नक्षत्रों का व्यक्ति के अनुकूल रहना जरूरी होता है। इसके लिए अलग-अलग उपाय किए जाते हैं। कोई मंत्र और पूजन करता है तो कोई नक्षत्रों के अनुकूल रत्न धारण करता है। लेकिन अब इसका एक तीसरा तरीका और भी है और वह है सुगंध का इस्तेमाल करना। कानपुर के दो लोगों ने ज्योतिषीय गणना आधारित नई तकनीक निकाली है, जिसमें सुगंध से ग्रह-नक्षत्रों को अनुकूल बनाया जाता है।

महामंत्र में सुगंध का महत्व
व्यक्ति को मौत के मुंह से सुरक्षित वापस लाने की शक्ति रखने वाले महामृत्यंजय मंत्र में भी सुगंध का महत्व बताया गया है। सुगंधिम पुष्टि वर्धनम के उच्चारण से यह बात सिद्ध भी होती है। ज्योतिषीय दृष्टिकोण से सुगंध की इस नई विधा पर शहर के दो युवा वैज्ञानिक डा. अजय तिवारी और इंजीनियर शेषमणि तिवारी ने शोध किया है। इसके परिणाम अभी तक काफी सकारात्मक आए हैं। इन दोनों युवाओं की सुगंध पर आधारित ज्योतिषीय गणना को पिछले दिनों वाराणसी में आयोजित प्रवासी भारतीय सम्मेलन में भी सराहा गया था।

चमत्कारिक होता है सुगंध का सही मिश्रण
दोनों वैज्ञानिकों का कहना है कि तमाम तरह की प्राकृतिक सुगंध को एक निश्चित अनुपात में मिलाने पर एक ऐसे मिश्रण का निर्माण हो रहा है, जो किसी व्यक्ति विशेष के नवग्रहों, सातों चक्र, और औरा को संतुलित करने की चमत्कारिक क्षमता प्रदान करता है। वह नकारात्मकता से लडऩे में, तनाव मुक्त रखने में व्यक्ति की मदद करता है। दोनों ने बताया कि पिछले कुछ वर्षों के अध्ययन में उन्होंने इस सुगंधित मिश्रण का 500 से ज्यादा लोगों पर प्रयोग किया है, जिसके परिणाम बहुत सकारात्मक आए हैं।

परीक्षण के बाद सुगंध का होता चयन
व्यक्ति को कौन सी सुगंध रोजाना प्रयोग करनी है, यह उसके ग्रह, नक्षत्र के अनुसार तय किया जाता है। पहले व्यक्ति का परीक्षण किया जाता है। इस पूरी प्रक्रिया में एक व्यक्ति पर करीब एक घंटे का समय लगता है। इसमें प्रत्येक ग्रहों के साथ मिलान से यह तय होता है कि व्यक्ति में कितनी सकारात्मक ऊर्जा है और कितनी नकारात्मक। उसी के आधार पर सुगंध का चयन किया जाता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned