पीएम नरेंद्र मोदी ने यूपी को दी बड़ी सौगात, ट्रैक पर दौड़ी काशी महाकाल एक्सप्रेस

वाराणसी से चलकर पहुंची कानपुर सेंट्रल स्टेशन, सांसद सत्यदेव पचौरी ने किया स्वागत तो सांसद देवेंद्र सिंह भोले महाकाल के दर्शन लिए ट्रेन से रवाना।

कानपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को वाराणसी स्टेशन से बनारस से इंदौर तक जाने वाली तीसरी प्राइवेट सेक्टर की काशी महाकाल एक्सप्रेस ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ट्रेन तय समय से समय पहले ही कानपुर सेंट्रल स्टेशन पहुंची। यहां पर सांसद सत्यदेव पचौरी और देवेंद्र सिंह भोले ने ट्रेन की आगवानी की। कुछ देर रूकने के बाद महाकाल एक्सप्रेस इंदौर के लिए निकल गई।

तीसरी प्राईवेट ट्रेन
वाराणसी से इंदौर तक जाने वाली तीसरी प्राइवेट सेक्टर की काशी-महाकाल एक्सप्रेस ट्रायल के लिए रविवार को वाराणसी स्टेशन से महाकाल के लिए रवाना की गई। ट्रायल के चलते यह ट्रेन रविवार को अपने निर्धारित समय से डेढ़ घंटे पहले 7.20 बजे कानपुर सेंट्रल के वीआइपी प्लेटफार्म नंबर एक पर पहुंची। स्टेशन पर सांसद सत्यदेव पचौरी ने ट्रेन की अगवानी की। इसके बाद झंडी दिखाकर ट्रेन को इंदौर के लिए रवाना किया। इस ट्रेन में अकबरपुर विधानसभा के सांसद देवेंद्र सिंह भोले भी महाकाल के दर्शन के लिए निकल गए।

12 बोगियां
ट्रेन के अधिकारियों के मुताबिक पूर्व में इस ट्रेन में कुल 18 बोगियां थीं, पर आईआरसीटीसी ने इसमें बदलाव करते हुए कुल 12 बोगियां चलाने का फैसला लिया है। जिसमें यात्रियों के लिए नौ, एक पैंट्री व दो जनरेटर यान की रहेंगी। तीन बोगियों को रिजर्व में रखा गया है। यात्रियों की संख्या बढने पर अतिरिक्त बोगियां लगाई जाएंगी। ट्रेन में 5 सुरक्षाकर्मी हर बोगी में रहेंगे। हर यात्री का 10 लाख रुपये का रेल ट्रैवल बीमा होगा। इसमें किराए के साथ 300 रुपये कैटरिंग चार्ज भी होगा। 20 सीटें सीनियर सिटीजन के लिए, 6 सीटें महिलाओं और 4 बर्थ दिव्यागजन के लिए आरक्षित हैं।

काशी की कचौड़ी और इंदौर का पोहा
रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक पांच से कम उम्र के बच्चों का पूरा किराया लगेगा। ट्रेन छूटने के पांच मिनट पहले तक टिकट बनेंगे। ट्रेन में खाना ट्रॉली से परोसा जाएगा। इसमें वाराणसी की कचौड़ी और इंदौर का पोहा खाने का स्वाद बढ़ाएगा । ट्रेेन में वरिष्ठ नागरिक समेत किसी श्रेणी को रियायत नहीं मिलेगी तथा तत्काल आरक्षण की सुविधा भी नहीं होगी। वहीं अकबरपुर के सांसद देवेंद्र सिंह भोले ट्रेन में सवार होकर महाकाल के दर्शन के लिए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चलते अब कानपुर के लोगों को सीधे महाकाल के दर्शन इसी ट्रेन के जरिए होंगे।

तीर्थस्थलों के भक्त कर सकेंगे दर्शन
सांसद सत्यदेव पचौरी ने बताया कि वंदेभारत, तेजस के बाद यह तीसरी प्राइवेट ट्रेन है, जिसका परिचालन भारतीय रेलवे की पटरियों पर आईआरसीटीसी करेगी। यह ट्रेन काशी विश्वनाथ की नगरी वाराणसी से इंदौर के बीच चलेगी। यह ट्रेन तीन ज्योतिर्लिंगों काशी विश्वनाथ, ओमकारेश्वर (इंदौर के निकट) और महाकालेश्वर (उज्जैन)- को जोड़ेगी। सांसद ने बताया कि कानपुर के लोगों की बहुत दिनों से इंदौरा के लिए एक सुफरफास्ट ट्रेन की मांग थी, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरा कर दिया। अब काशी, कानपुर समेत यूपी के कई जिलों के लोग तीर्थस्थलों के दर्शन कर सकेंगे।

Show More
Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned