रक्षाबंधन व बकरीद पर्व को लेकर पुलिस प्रशासन हुआ एलर्ट, सख्त निर्देश देते हुए कहा इस तरह मनाएं त्यौहार

किसी भी प्रकार की कोई व्यक्ति नाराजगी प्रकट न कर सके।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 27 Jul 2020, 08:40 PM IST

कानपुर देहात-वैश्विक महामारी में चल रहे लॉकडाउन को लेकर पुलिस प्रशासन सख्त दिख रहा है। जहां जहां सार्वजनिक स्थलों पर कार्यक्रम व पार्टियों सहित भीड़भाड़ को लेकर पाबंदी है, वहीं त्यौहारों को लेकर भी नियमों का पालन अनिवार्य है। इसके लिए कानपुर देहात में पुलिस प्रशासन पीस कमेटी की बैठक कर लोगों से अपील कर रहा है। इसी के तहत जिले रसूलाबाद कोतवाली परिसर में आने वाले रक्षाबंधन व बकरीद के त्यौहार को लेकर एसडीएम अंजू वर्मा की अध्यक्षता में शांति समिति की बैठक की गई। बैठक में उपजिलाधिकारी अंजू वर्मा ने कहा कि जिस तरह विगत ईद के पर्व पर नमाज में महज 5 लोगों को मस्जिद में नमाज पढ़ने की अनुमति थी। उसी तरह बकरीद की नमाज में भी उतने ही लोग जाएंगे। साथ ही कुर्बानी के बाद अवशेषों को जमीन में गाड़ दें, ताकि किसी भी प्रकार की कोई समस्या उत्पन्न न हो।

वहीं पुलिस क्षेत्राधिकारी रामशरण सिंह ने लोगों से कहा कि ईद-उल-अजहा के दौरान कुर्बानी के अवशेषों को किसी भी सार्वजनिक स्थान पर फेंके नहीं, बल्कि उनको जमीन में दफन कर दें। कुर्बानी के समय रक्त के बहाव के लिए अधिक से अधिक पानी का इस्तेमाल करें। कहीं भी यदि कुर्बानी के मीट का वितरण करें तो उसको ढककर ले जाएं, जिससे किसी भी प्रकार की कोई व्यक्ति नाराजगी प्रकट न कर सके। साथ ही ध्यान रखें कि किसी भी दशा में बिना फेसमास्क और बिना सोशल डिस्टेंस पालन किए हुए कोई बाहर न निकले। यदि ऐसा होता है तो प्रशासन को मजबूरन कार्रवाई करनी पड़ेगी।

वहीं उन्होंने ग्राम पंचायतों के प्रधानों से अपील करते हुए कहा कि पूर्व में आप लोगों ने गांव में साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिया था, लेकिन जैसे ही बीमारी बढ़ी तो आपकी साफ सफाई ओझल सी हो गई। जिसमें सुधार लाने के लिए कहा। कोतवाल चंद्रशेखर दुबे ने कहा कि दोनों ही त्योहारों में कोई दो से अधिक सवारी बाइक में न बिठाए। साथ ही बिना नंबर की बाइक लेकर यदि कोई घूमता है तो उसका चालान निश्चित होगा। उन्होंने दोनों ही समुदाय के लोगों से त्योहारों को शांतिपूर्ण ढंग से मनाने की अपील की। उन्होंने कहा इसके अतिरिक्त शासन द्वारा जो भी गाइडलाइन आएगी तो उसका भी पालन भलीभांति करना होगा। शांति एवं सौहार्द से पर्व को मनाएं।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned