अंजाम से बेखबर पुलिस टीम पहुंची मामला सुलझाने, हो गया बड़ा हमला, कई पुलिसकर्मी घायल, फोर्स तैनात

- विवाद सुलझाने पहुंचे पुलिसवालों पर पथराव, चार गिरफ्तार
- चौकी इंचार्ज और हेड कांस्टेबल गंभीर घायल

By: Abhishek Gupta

Published: 21 Mar 2021, 07:38 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क.
कानपुर देहात. मामूली से घरेलू विवाद (Domestic Voilence) को पुलिस ने हल्के में लिया और छोटी सी टीम के साथ मौके पर पहुंच गई। बाद में जो उनके साथ हुआ उससे इलाके में हड़कंप मच गया। कानपुर देहात (Kanpur Dehat) में पुलिस की टीम (UP Team) पर दबंगों ने जमकर हमला कर दिया। इसमें चौकी इंचार्ज व सिपाही सहित एक महिला गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस कर्मियों ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई। आक्रामक हमलावरों को रोकने के लिए पुलिस ने फायर भी किया, लेकिन तब तक सभी हमलावर उन्हीं की सर्विंस बंदूकों को लेकर फरार हो चुके थे। पथराव में घायल पुलिसकर्मियों को कानपुर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया और महिला को सीएचसी भेजा गया। मौके पर रसूलाबाद थाना सहित भारी पुलिस फोर्स पहुंची। मौके पर जिले के एसपी समेत शनिवार देर रात एडीजी भी पहुंच गए। घटना में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 13 नामजद लोगों पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

ये भी पढ़ें- नई दिल्ली-लखनऊ शताब्दी एक्सप्रेस में लगी आग, कानपुर के यात्रियों ने फोन से घरों में दी सूचना

यह है मामला-
मामला रसूलाबाद थानाक्षेत्र के भिखदेव कहिंजरी गांव का है। भीखदेव निवासी महिला शाह बेगम ने दहेज उत्पीड़न को लेकर अपने पति व ससुर रफीक के खिलाफ दो वर्ष पहले मुकदमा दर्ज कराया था, लेकिन आरोपित ससुर की गिरफ्तारी नहीं हुई। इस मामले में महिला ने 18 मार्च को उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य पूनम कपूर से गुहार लगाई थी। इस पर पुलिस ने शुक्रवार को रफीक को हिरासत में लिया और मामला समझौते तक पहुंचने पर छोड़ दिया गया था। इसके बाद ससुराल में शाह बानो के रुकने की बात पर कहिंजरी चौकी इंचार्ज गजेंद्र पाल उसे लेकर सिपाहियों के साथ शनिवार रात भीखदेव पहुंच गए। वहां पहुंचकर पुलिस रफीक के बड़े बेटे हसर अली से पूछताछ करने लगी। तभी अचानक से वहां घर की महिलाओं अफरून, असरून, रईशा व चांदतारा समेत करीब दर्जन भर लोगों के साथ मिलकर पुलिस पर हमला बोल दिया। महिलाओं ने पुलिस पर ईंट पत्थर भी बरसाएं।

ये भी पढ़ें- पंचायत चुनाव आरक्षण सूची - विकास दुबे का गांव बिकरू में बड़ा उलटफेर, अब इन्हें मिला मौका

कई थानों की पुलिस फोर्स तैनात-
किसी तरह सिपाहियों ने भागकर वायरलेस पर मदद मांगी। पथराव में सिर पर चोट लगने से चौकी इंचार्ज गजेंद्र पाल लहूलुहान होकर गिर पड़े। सिपाही समर सिंह भी इसमें घायल हो गए। हमलावरों को आक्रामक होता देख सिपाहियों ने हवाई फायरिंग की, इससे सभी हमलावर वहां से भाग निकले। चौकी इंचार्ज की पिस्टल और सिपाही की बंदूक भी दबंग छीन ले गए। घटना की सूचना पर तत्काल रसूलाबाद थाने सहित भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचा। जिसके बाद घायल चौकी इंचार्ज और सिपाही को कानपुर के एक नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया। वहीं घायल महिला को सीएचसी में एडमिट कराया गया। सूचना पर एसपी केशव कुमार चौधरी, एएसपी घनश्याम चौरसिया समेत कई थानों की फोर्स घटनास्थल पर तैनात कर दी गई है। आरोपितों की तलाश में पुलिस की टीमें लगाई गई हैं। एसपी ने बताया कि जल्द ही सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। घटना की जानकारी पर रात में ही पहुंचे एडीजी भानु भास्कर ने बताया कि जिले के एसपी ने आरोपितों की तलाश में टीमें लगाई हैं। चार आरोपित पकड़े गए हैं, शेष आरोपितों की तलाश में पुलिस जुटी है।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned