5 घंटे तक सपा विधायक घर पर रहे नजरबंद

शहर के लोगों की समस्याओं के चलते सीएम ये मांगा था मिलने का समय, प्रशासन ने खड़ किए हाथ तो कर दिया ऐलान, घर के अंदर कैद रहे अमिताभ बाजपेयी।

 

By: Vinod Nigam

Published: 19 Jan 2019, 03:50 PM IST

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर। सीएम आदित्यनाथ योगी के कार्यक्रम में किसी तरह का व्यवधान उत्पन्न ना हो इसके लिए जिला प्रशासन ने सपा विधायक अमिताभ बाजपेई को उनके ही घर में नजरबन्द कर दिया था। जिसके चलते सपा कार्यकर्ता आगबबूला हो गए और बेरीकैटिंग तोड़ मोतीझील की तरफ बढ़ने लगे। पुलिस ने लाठी पटक कर उन्हें किसी तरह से रोका। इसके बाद कार्यकर्ता सड़क पर बैठकर योगी सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया।

इसलिए पुलिस ने की कार्रवाई
आयुर्वेद महासम्मेलन में भाग लेने के लिए शनिवार को सीएम योगी आदित्यनाथ कानपुर पहुंचे। सीएम के आने की जानकारी होने पर रात से ही सपा कार्यकर्ता शहर की तमाम समस्याओं को लेकर मिलने का समय जिलाप्रशासन से मांगा, लेकिन सुरक्षा व्यवस्था का हवाला देकर उनकी मांग नहीं मानी गई। जिसके कारण आर्यनगर से सपा विधायक अमिताभ बाजपेयी अपने समर्थकों के साथ सीएम से मिलने का ऐलान कर दिया। सुबह भारी पुलिस बल के साथ उन्हें घर पर नजरबंद कर दिया गया। सुबह 8 बजे से लेकर दोपहर के 1 बजे तक उन्हें बाहर नहीं आने के साथ ही सपा कार्यकर्ताओं को भी सपा विधायक से नहीं मिलने दिया गया।

इस लिए किया नजरबंद
जिला प्रशाशन के आदेश पर काकादेव थाने का पुलिस बल उनके घर के बाहर तैनात कर दिया गया और उनको ताकीद की गयी कि कोई भी घर के बाहर ना निकले। सपा विधायक का आरोप है कि इस तरह से घर में नजरबन्द करना अघोषित एमरजेंसी है और ऐसा लग रहा है कि लोकतंत्र समाप्त हो गया है। सपा विधायक अमिताभ बाजपेयी की कहना है कि जब जब योगी जी कानपुर आते है तब जनता की समस्याओं को उन तक पहुंचाने के लिए समाजवादी पार्टी के लोगों समय मांगते हैं। पर हर बार हम लोगों को समय देने के बजाय पुलिस द्धारा नजरबन्द कर दिया जाता है। सीएम से मिलने के लिए आज हमने समय मांगा, पर मिलना तो दूर हमें घर के बाहर नहीं निकलनें दिया गया।

अगली बार दिखाएंगे ताकत
सपा विधायक ने कहा कि अगली बार सीएम योगी जब कानपुर आएंगे तब समाजवादी नौजवान पूरी ताकत से उनका इस्तेकबाल करेगा और उनको समाजवादी ताकत का एहसास कराएंगें । सपा विधायक ने बताया कि शहर में बिजली, पानी, सड़क सुरक्षा तार-तार है। शिकायत के बाद भी अधिकारी समस्याओं का निराकरण नहीं कर रहे। किसानों की फसलें अन्ना मवेशी उजाड़ रहे हैं। सीएम को इन्हीं समस्याओं के बारे में जानकारी देकर उनके निराकरण की मांग के लिए उनसे मिलने का समय मांगा, पर दिया नहीं गया। जो लोकजंत्र के लिए बहुत खराब बात है।

 

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned