रमजान में संक्रमण से सुरक्षा के बीच सुविधा का डबल प्लान

पुलिस कराएगी होम डिलीवरी, सडक़ पर थूका तो उसकी खैर नहीं
हॉटस्पॉट पर रमजान भर ड्रोन से सडक़ और छतों पर रहेगी निगरानी

कानपुर। एक हफ्ते बाद प्रशासन और पुलिस के सामने डबल चुनौती आने वाली है। अगले शनिवार से रमजान महीना शुरू हो रहा है। रमजान जैसे पाक महीने में पुलिस को एक ओर कोरोना संक्रमण के मौजूदा संकट से लोगों को दूर रखना होगा तो दूसरी ओर रोजेदारों को भी सोशल डिस्टेंसिंग के दायरे में रखना पड़ेगा। दोनों चुनौतियों में एक को भी हल्के में नहीं लिया जा सकता है, इसलिए इस डबल चुनौती के लिए पुलिस ने भी डबल प्लान तैयार किया है। पूरे एक महीने यानि २५ मई ईद के दिन तक इस प्लान को अमल में लाया जा सकता है।

पहला प्लान: मौजूदा सख्ती में कोई छूट नहीं
रमजान के दौरान भी मौजूदा लॉकडाउन लागू रहेगा। इसके अलावा हॉटस्पॉट और रेडजोन घोषित हुए इलाकों में भी सख्ती और बढ़ाई जाएगी। किसी को भी सडक़ों पर टहलने की इजाजत नहीं होगी। फिर चाहे पर रोजेदार हो या फिर कोई और। केलव ठेले पर जरूरी चीजें लेकर खरीदने के लिए घर के दरवाजे पर आकर खरीदारी की छूट ही मिलेगी। रमजान के दौरान देररात और सुबह तडक़े भी पुलिस की गश्त बढ़ाई जाएगी। इफ्तार और सहरी के दौरान लोगों को एक जगह इकट्ठा नहीं होने दिया जाएगा, साथ ही इस बात का भी ख्याल रखा जाएगा कि किसी भी रोजेदार को कोई परेशानी ना हो।

दूसरा प्लान: घनी आबादी पर दोहरी नजर
दूसरे प्लान के तहत पुलिस हॉटस्पाट के साथ उन इलाकों में भी सतर्कता बरतेगी जिन्हें फिलहाल हॉट स्पॉट तो घोषित नहीं किया गया है, लेकिन वहां पर मुसलिम आबादी ज्यादा है। पुलिस अधिकारियों के प्लान के अनुसार उन इलाकों में विशेष निगरानी होगी जहां पर ज्यादा संकरी गलियां और लोग सडक़ पर जल्दी आ जाते हैं। उन्हें पब्लिक एड्रेस सिस्टम से लगातार जागरूक करने का कार्य किया जाएगा। उनमें रमजान के महीने में पुलिस द्वारा विशेष तौर पर सतर्कता बरती जाएगी। इन इलाकों में सडक़ पर पुलिस और घरों की छतों पर ड्रोन से लगातार निगरानी बढ़ाई जाएगी।

धर्मगुरुओं का भी मांगा साथ
डबल प्लान के अलावा पुलिस की एक और योजना है, जिसमें पुलिस अधिकारियों ने मुसलिम समुदाय के धर्म गुरुओं का सहारा लिया है। क्योंकि रोजेदार इन धर्मगुरुओं की बात को सहजता से स्वीकार करते हैं। उनके जरिए अपील करने को कहा गया है कि इफ्तार पार्टियां न कराई जाएं। लोग अपने घरों में रहकर ही तरावीह और इफ्तार करें। थाना पुलिस को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि बदसलूकी न की जाए।

आलोक पाण्डेय Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned