कोई कर रहा पढ़ाई तो किसी ने पत्नी संग दाल-रोटी पकाई, मुलायम-लोहिया जी की जिंदगी से बच्चों को करा रहे रूबरू

लाॅकडाउन के चलते घर पर जनप्रतिनिधि परिवार के साथ कर रहे आराम, बच्चों के साथ खेलने के अलावा क्षेत्र की जनता से घर पर रहने की कर रहे अपील।

By: Vinod Nigam

Published: 28 Mar 2020, 09:04 AM IST

कानपुर। कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में 21 दिन का लाॅकडाउन चल रहा है। जिसके चलते जहां आमलोग अपने-अपने घरों के अंदर हैं तो वहीं राजनीतिक दलों के नेता व जनप्रतिनिधि भी भागदौड़ की जिंदगी के बीच पहली बार मिले इस समय को अपने घर में परिवार के सदस्यों के बिता रहे हैं। कोई घर पर महापुरूषों की जिंदगी से जुड़ी किताबों को पढ़ रहा है तो पत्नी संग मिलकर किचन में दाल रोटी पका रहा है। वहीं समा समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सदस्य चैधरी सुखराम सिंह घर पर पाठशाला शुरू की है। वह जयप्रकाश नारायण, लोहिया जी और मुलायम सिंह यादव से जुड़ी पुस्तकों को पढ़ने के साथ ही बच्चों को इनके बारे में जानकारी दे रहे हैं।

घरों पर रहने की अपील
चैधरी सुखराम सिंह बताते हैं वह सुबह जगकर पहले बच्चों के साथयोग और प्राणायाम करते हैं। इसके बार नाश्ता करने के बाद बच्चों के संग खेलते हैं और फिर महापुरूषों से जुड़ी पुस्तकों को पढ़ते हैं। सुखराम सिंह कहते हैं कि 30 साल के राजनीतिक कॅरियर में पहली बार 21 दिन का समय परिवार के साथ बिताने को मिला है। जनता की समस्याओं और समाधान के लिए 365 दिन काम करने के चलते महिनों परिवार से दूर रहना पड़ता है। सांसद ने लोगों से अपील की वह अपने घरों पर रहें और कोरोना वायरस पर जीत के लिए योगदान दें।

बरसों बाद बनाई सब्जी
उच्च शिक्षा राज्यमंत्री नीलिमा कटियार कहती हैं कि दिन के कुछ घंटे फोन पर ही जनता के काम में लग रहे हैं, लेकिन 20 वर्षो बाद ढंग से परिवार को समय दे पा रही हूं। यह पहली बार हुआ कि सुबह चाय से रात डिनर तक हम सभी साथ थे। बरसों बाद सब्जी बनाई। मंत्री ने बताया कि वह घर पर रहकर लोगों की समस्याएं फोन के जरिए सुनती हैं और उनका निराकरण करती हैं। मंत्री ने लोगों से अपील की वह घरों से बाहर नहीं निकलें और लाॅकडाउन का पालन कर कोरोना के खिलाफ चल रही जंग में देश का साथ दें।

पहली बार पकाया भोजन
गोविंदनगर विधायक सुरेंद्र मैथानी कहते हैं कि तीस वर्ष के राजनीतिक जीवन में वे परिवार से बिल्कुल कट सा गए थे, लेकिन बुधवार को उन्होंने बेटी स्वप्निल और बेटे शशांक के साथ चेस खेला। दिन की शुरुआत पूजा से ही हुई इसके बाद पत्नी वंदना मैथानी का रसोई में भी हाथ बंटाया। विधायक ने बताया कि राजनीति में इतनी व्यस्थता रहती है कि परिवार के सदस्यों से मिलना नामुकिन हो जाता है। 21 दिन के लाॅकडाउन के चलते घर पर रहने का मौका मिला। हम घर से अपने क्षेत्र के लोगों की समस्याओं का निराकरण करने के साथ उन्हें घर पर रहने की अपील कर रहे हैं।

बच्चों की सुधार रही हूं हिंदी
,महापौर प्रमिला पांडेय कहती हैं कि वे सुबह नवरात्र की पूजा के बाद रोज कुछ घंटे शहर में सफाई और सैनिटाइजेशन की व्यवस्था देखने निकल रही हूं। घर में बच्चों की हिंदी सुधार रही हूं। उन्हें तुलसी और सूरदास के साथ भारतीय परंपरा के बारे में बताती हूं। कहानियां भी सुनाती हूं। महापौर ने कानपुर के लोगों से अपील करते हुए कहा कि महाभारत का युद्ध 18 दिन चला था। जबकि कोरोना के खिलाफ ये जंग हमें 21 दिन के अंदर जीतनी है। ऐसे में मेरे शहर के नागरिक घर पर रहे और नवरात्र पर्व पर धर्मग्रन्थों को पढ़ें।

बीजेपी सांसद ने क्यारी संवारी
सांसद देवेंद्र सिंह भोले को याद भी नहीं कि कब उन्होंने फुरसत में बैठकर परिवार के साथ गपशप की थी। बेहद जरूरी काम के अलावा घर से नहीं निकल रहे। शुक्रवार को नाती देवांश और नातिन पिनाकी के साथ काफी देर तक लूडो और कैरम खेला। बाकी पूजा और व्यायाम आदि किया। इसके बाद क्यारी भी संवारी। सांसद ने कहा कि इस वक्त देश विकराज संकट से गुजर रहा है। ऐसे में मेरी अपने लोकसभा क्षेत्र की जनता से यही अपील है कि घर पर रहें। बेवजह बाहर नहीं निकलें। समस्या होने पर मुझे बताएं य पुलिस-प्रशासन को सूचना देंर्।

Corona virus coronavirus
Show More
Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned