राष्ट्रपति कोविंद ने यहाँ कराया था ये काम, आज गांव के लोग कर रहे त्राहि माम, आखिर क्या वजह है

Arvind Kumar Verma

Publish: Aug, 11 2019 06:12:14 PM (IST)

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर देहात-केंद्र व प्रदेश में भले ही सरकार विकास कार्य को लेकर बड़े बड़े दावे करती हो, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां करती है। कानपुर देहात जिले में कई ऐसे गांव हैं, जो बदहाल हालातों से आज भी गुजर रहे हैं, लेकिन उनकी सुध लेने वाला नहीं है। ऐसा ही कानपुर देहात के रसूलाबाद तहसील का डूंडामहुआ गांव है, जहां गांव के लिए कोई भी सड़क नही बनवाई गई है। इसके चलते ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। दशकों से उखड़ी सड़क को लेकर छात्र छात्राएं ही नहीं बल्कि बीमार मरीजों को भी निकलना दूभर हो जाता है। ग्रामीणों की माने तो चुनाव जब आता है तो नेता बड़े बड़े वादे कर चले जाते है और चुनाव के बाद स्थिति जस की तस हो जाती है। जिसको लेकर ग्रामीणों मे सरकार के प्रति रोष व्याप्त है।

 

ग्रामीणों के मुताबिक गांव में वर्ष 1993 में तत्कालीन राज्यसभा सांसद व वर्तमान में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की निधि द्वारा इस सड़क का निर्माण हुआ था। पिछले 16 सालों से सड़क उखड़ी पड़ी है। तहसील से 4 किलोमीटर दूर पर बसे इस गांव को जाने वाली 2 किलोमीटर की सड़क पर कई बड़े बड़े गहरे गड्ढे हो चुके हैं। इन गड्डो में बरसात के समय पानी भर जाने से राहगीरो को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। इस सड़क पर स्थित डिग्री कालेज के छात्रों को भी आवागमन में दिक्कतें आती है। 16 सालो से खराब पड़ा यह मार्ग राजनैतिक षडयंत्रों की मार झेल रहा है। ग्रामीणो की माने तो इस रोड पर स्कूली बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक गिरकर घायल हो चुके है। यहां पर महिलाओं के प्रसव के लिए आई एम्बुलेंस तक समय से नही पहुँच पाती है।

 

इस समस्या को लेकर बीते लोकसभा चुनाव में श्रीराम जनसेवा फाऊंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष दीपक ठाकुर सिंघा ने ग्रामीणों के साथ मतदान बहिष्कार करने का ऐलान किया था। गांव में नेताओ ने पहुँचकर आश्वाशन दिया था कि जीतने के बाद सड़क का निर्माण करा देंगे और जनता के संतुष्टि के लिए जेसीबी मसीन भी सड़क पर चलवा दी। जिससे लोगो को भरोसा हुआ था लेेेकिन चुनाव खत्म होते ही किसी नेता ने दोबारा इस गांव की ओर नही देखा है। सड़क न बनने को लेकर लोगो मे भारी आक्रोश पनप रहा है। वही श्रीराम जनसेवा समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष दीपक ठाकुर ने बताया अगर जल्द ही डूडामहुआ गांव की सड़क नही बनी तो ग्रामीण धरना प्रदर्शन व रोड जाम करने पर मजबूर होंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned