प्रियंका गांधी ने कानपुर को बताया अपना घर, इस शहर से दादी और पिता का है गहरा नाता

प्रियंका गांधी ने कानपुर को बताया अपना घर, इस शहर से दादी और पिता का है गहरा नाता

Neeraj Patel | Publish: Apr, 19 2019 06:13:39 PM (IST) | Updated: Apr, 19 2019 06:13:40 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

प्रियंका गांधी ने कहा कि ये क्रांतिकारियों की नगरी है और इस शहर से हमारी दादी और पिता का गहरा नाता है और यही मेरा मायका है।

कानपुर. लोकसभा चुनाव से पहले ही राजनीति में सक्रिय होने वाली कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शुक्रवार को कानपुर में रोड शो किया। प्रियंका गांधी का रोड शो करीब साढ़े तीन बजे घंटाघर चौराहे से शुरू हुआ। घंटाघर स्थित एक नुक्कड़ सभा को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि ये क्रांतिकारियों की नगरी है और इस शहर से हमारी दादी और पिता का गहरा नाता है और यही मेरा मायका है। इसलिए बेटी की बात सुनें लोकसभा चुनाव में झूठ के बजाए सत्य को वोट देकर जिताएं। इसके बाद वो रोड शो के लिए रथ पर सवार हो गई।

रोड शो के साथ-साथ प्रियंका फूलबाग में नुक्कड़ सभाएं भी की और देर शाम बड़े चौराहे पर जा कर प्रियंका का रोड शो खत्म हुआ। कांग्रेस ने कानपुर से श्रीप्रकाश जयसवाल को टिकट दिया है उन्हीं के पक्ष में नुक्कड़ सभाएं भी की। प्रियंका गांधी का काफिला एयरपोर्ट से सीओडी पुल, टाटमिल चौराहे से होता हुआ घंटाघर चौराहे पर पहुंचा। यहां से रोड शो की शुरुआत हुई। प्रियंका गांधी नयागंज, बिरहाना रोड, फूलबाग से होते हुए प्रियंका मेघदूत तिराहे से वीआईपी रोड के जरिए कचहरी (चेतना चौराहा) से बड़ा चौराहा पहुंची। इसके बाद वहां से उनका रोड शो खत्म हो गया।

बता दें कि दूसरे चरण का मतदान खत्म होते ही कांग्रेस तीसरे चरण की तैयारियों जुट गई है। कांग्रेस के लिए रणनीति बनाने व अमेठी में पार्टी द्वारा किए गए काम की समीक्षा करने प्रियंका गांधी ने अमेठी में बैठक की। गौरीगंज स्थित कांग्रेस के केंद्रीय कार्यालय पर प्रियंका गांधी ने लोकसभा चुनाव की ज़िम्मेदारी की कार्यकर्ताओं एवं नेताओं से प्रगति रिपोर्ट ली और उन्हें आगे के लिए दिशा निर्देश भी दिए।

भाजपा नेता विजय पासी ने कांग्रेस की सदस्यता ली

2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा का दामन थामने वाले विजय पासी ने शुक्रवार को प्रियंका गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। विजय पासी ने कहा कि उन्हें बीजेपी मे घुटन महसूस हो रही थी। उनका मानना है कि बीजेपी में कार्यकर्ताओं की कोई वैल्यू नहीं है। पार्टी में केवल उन्हें तरजीह दी जाती है जो चापलूस होते हैं। विजय पासी ने स्मृति ईरानी के विकास पर भी उंगली उठाई और कहा कि वो केवल ढकोसला दिखा रही हैं। जबकि अमेठी मे उन्होंने अपनी निधि से आधे रुपए भी नहीं दिए। उल्लेखनीय है कि विजय पासी 2007 और 2012 के विधानसभा चुनाव मे जगदीशपुर से सपा के टिकट पर भाग्य आजमा चुके हैं। ये बात दीगर है के उन्हें शिकस्त हाथ लगी। 2012 मे उन्हें 51 हजार वोट मिले थे। वर्तमान मे विजय पासी जिला पंचायत सदस्य हैं और उनकी माता श्याम पता छठवीं बार प्रधान चुनी गईं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned