नामांकन से पहले श्रीप्रकाश को खानी पड़ी तंबाकू

कांग्रेस श्रीप्रकाश जासवाल ने राज्यसभा सांसद राजीव शुक्ला की मौजूदगी में विधि-विधान से भरा पर्चा, फिर बीजेपी के खिलाफ जमकर बोला हमला।

By: Vinod Nigam

Published: 04 Apr 2019, 09:10 AM IST

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर। लोकसभा चुनाव के ऐलान के बाद पूरे देश में सियासत गर्म है। आरोप-प्रत्यारोपों का दौर और नए-नए वादों के साथ राजनेता मतदाता के पास जा रहे हैं। वहीं जहां पहले चरण में वोटिंग होनी हैं, उन सीटों पर नामांकन पक्रिया भी जारी है। बुधवार को कानपुर सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार व पूर्वमंत्री श्रीप्रकाश जासयवाल चैथी बार सांसद चुने जाने के लिए लाव-लश्कर के साथ कचहरी पहुंचे। लेकिन पंडित जी के चलते उन्हें करीब एक घंटे तक पर्चा दाखिल करने के लिए इंतजार करना पड़ा। इस दौरान उन्होंने जेब से तंबाकू निकाली और खाकर अपने समर्थकों के साथ जीत-हार पर चर्चा करते रहे।

शुभ मुहुर्त के चलते देरी से नामांकन
कांग्रेस ने कानपुर लोकसभा सीट से पूर्व कैबिनेट मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल को उम्मीदवार बनाया है, यहां इनका मुकाबला यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचैरी और समाजवादी के प्रत्याशी राजकुमार निषाद से हैं। मंगलवार से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो गई। प्रत्याशियों ने भी शुभ मुहुर्त के अनुसार नामांकन कराने की तिथियां तय की हैं। इसी कड़ी में कांग्रेस प्रत्याशी श्रीप्रकाश जायसवाल ने तीन अप्रैल को सुबह ग्याहर बजे नामांकन की तैयारी की थी। पूर्वमंत्री सुबह 10 बजे अपने घर से चलकर सीधे पार्टी कार्यालय तिलकहाॅल पहुंचे।

दो घंटे के बाद निकला जुलूस
कांग्रेस के पदाधिकारी व कार्यकर्ता सुबह ही तिलकहाॅल में जमा हो गए थे। जुलूस सुबह सवा दस बजे निकलना था, लेकिन गृहनक्षत्रों के चलते इसे रोक दिया गया। तय समय पर जब जुलूस नहीं उठा तो कार्यकर्ता आपास में चर्चाएं करने लगे। कांग्रेस सूत्रों की मानें तो पंडित से वार्ता के बाद प्रत्याशी श्रीप्रकाश जायसवाल ने नामांकन का समय तीन घंटे के लिए टाल दिया और दो बजे नामांकन दाखिल करने की बात कही।जब इसपर स्थानीय नेताओं ने जानकारी जुटाई कि अचानक कार्यक्रम क्यों टाल दिया गया तो सामने आया कि पंडित ने सुबह ग्यारह बजे से राहूकाल होने के कारण नामांकन से रोक दिया था। इसके चलते नामांकन का समय तीन घंटे के लिए टालना पड़ गया।

एक घंटे तक कचहरी में काटा समय
जुलूस दो घंटे देरी से निकलनें के बाद कचहरी पहुंचा। पदाधिकारियों ने सारे दस्तावेज तैयार करवा लिए। लेकिन श्र्रीप्रकाश जासयवाल की नजर अपनी घड़ी पर थी। राहुकाल के चलते उन्होंने कार्यकर्ताओं से एक घंटे के बाद पर्चा दाखिल करने को कहा। इस बीच वो अपने समर्थकों के साथ कचहरी में पड़ी कुर्सियों में बैठ गए। फुर्सत के क्षण में उन्होंने कलेक्ट्रट में धूम्रपान के प्रतिबंद के बावजूद जेब से तंबाकू निकाली और उसे खा गए। ये देख कांग्रेसी कार्यकर्ता एक-दूसरे का मुंह ताकने लगे।

BJP
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned