Kanpur Crime News इस वजह से पुलिस ने बसपा नेता पर लगाया रासुका

Kanpur Crime News इस वजह से पुलिस ने बसपा नेता पर लगाया रासुका

Vinod Nigam | Updated: 18 Jul 2019, 04:52:13 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

जहरीली शराब पीने से घाटमपुर में हुई थी 8 लोगों की मौत, पुलिस ने बसपा नेता समेत 13 को जेल भेजा था।

कानपुर। घाटमपुर कोतवाली क्षेत्र में बसपा नेता BSP Leaderके रहमोकरम से यहां दर्जनों गांवों में अवैध रूप से शराब की अवैध भठ्ठियां धंधक रही थीं। मार्च 2018 में जहरीली शराब poisonous liquor पीने से आठ लोगों की मौत हो गई थी। पुलिस ने इस मामले पर बसपा नेता व पूर्व जिला पंचायत सदस्य योगेंद्र कुशवाहा BSP leader के अलावा 15 पर मुकदमा दर्ज कर 13 को जेल भेज दिया था। सभी ने कोर्ट में जमानत के लिए अर्जी लगाई थी। इसी के चलते एसएसपी अनंत देव तिवारी के आदेश पर पुलिस ने बसपा नेता व उसके दो भाई समेत पांच पर रासुका (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) National security law की कार्रवाई की है।

कौन हैं योगेंद्र कुशवाहा
पूर्व जिला पंचायत सदस्य योगेंद्र कुशवाहा मुलरूप से घाटमपुर के सराय का रहने वाला है। आरोपित 2007 में बसपा से जुड़ा था। घाटमपुर से विधानसभा चुनाव के लिए 2012 में टिकट मांगा था, लेकिन सीट आरक्षित हो जाने के कारण वो चुनाव नहीं लड़ पाया। योगेंद्र कुशवाहा की पकड़ बसपा के बड़े-बड़े नेताओं से है। 2017 के विघानसभा चुनाव के दौरान जब बसपा प्रमुख मायावती BSP chief Mayawati रैली के लिए शहर आई तो इसकी जिम्मेदाररी योगेंद्र के हाथों में थी। बसपा सरकार के कार्यकाल के दौरान योगेंद्र ने घाटमपुर और कानपुर देहात में शराब का अवैध कारोबार किया और अपनी तिजोरी भरी।

8 लोगों की मौत के बाद जेल
18 मार्च 2019 को बिधनू थाना क्षेत्र स्थित टिकरिया गांव में रहने वाले अजमेर सिंह यादव की जहरीली शराब पीने से मौत हो गई थी। दूसरे दिन पांच अन्य शराब के शिकार हो गए, जबकि तीसरे दिन दो लोग और काल के गाल में समा गए। एसएसपी ने घाटमपुर कोतवाल,साढ़ चौकी इंचार्ज देवेन्द्र सिंह समेत तीन सिपाही निलंबित कर दिया था। शासन ने भी जिला आबकारी अधिकारी और आबकारी इंस्पेक्टर को निलंबित की कार्रवाई की थी। पूरे मामले की जांच खुद एसएसपी अनंत देव तिवारी ने की और बसपा नेता का नाम सामनें आया।

प्लाट में धंधकती भी भठ्ठियां
पुलिस की जांच में पता चला था कि मिलावटी शराब का कारोबार बसपा नेता योगेन्द्र कुशवाहा चलाता है। योगेन्द्र पड़री लालपुर में अपने खाली प्लाट में मिलावटी शराब बनवाने का काम करता था। यहां पर बनने वाली शराब को अपने सेटिंग वाले ठेकों और परचून की दुकानों में सप्लाई करवाता था। पुलिस ने योगेंद्र व विमल को गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों कीनिशानदेही पर 20 पेटी शराब ,एक ड्रम केमिकल ,शीशी ,ढक्कन रैपर बरामद किए गए। अब तक पुलिस ने 13 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

सपा नेता की रिहाई के बाद कार्रवाई
पिछले वर्ष कानपुर नगर और कानपुर देहात में जहरीली शराब पीने से डेढ़ दर्जन लोगों की मौत हुई थी । पुलिस ने सपा के पूर्व मंत्री रामस्वरूप गौर, उनके दो पौत्र जिला पंचायत सदस्य नीरज सिंह व विनय सिंह समेत सात लोगों पर मुकदमा दर्ज किया था। इनमें से नीरज सिंह को कोर्ट ने जमानत पर रिहा कर दिया है। इसी के बाद पुलिस ने बसपा नेता पर रासुका की कार्रवाई की है। एसपी र्ग्रामीण प्रद्युम्न सिंह ने बताया कि योगेंद्र व उसके चार सहयोगियों पर रासुका लगाया गया है। आरोपितों के खिलाफ जल्द ही गैंगस्टर एक्ट में भी कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद उनकी अवैध रूप से जुटाई गई संपत्ति को जब्त कराया जाएगा।

इन पर लगी रासुका
एसपी के मुताबिक जेल में बंद सराय घाटमपुर निवासी बसपा नेता व पूर्व जिला पंचायत सदस्य योगेंद्र कुशवाहा, दरगवा अकबरपुर निवासी उसके साथी अमित उर्फ सोनू यादव व सुमित उर्फ मोनू यादव और बेल्टी सरवन खेड़ा गजनेर निवासी रामू परिहार व कोहना सजेती के उपेंद्र सिंह उर्फ रिंकू पर रासुका लगाया गया है। सभी आरोपी शराब की अवैध फैक्ट्री लगाए हुए थे जहां पर मिलावटी शराब बनती थी।

 

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned