नाला को लेकर गांव पहुंची थी राजस्व टीम, ग्रामीणों व लेखपाल में हुई जमकर झड़प, वीडियो वायरल

ग्रामीणों का आरोप है कि लेखपाल तेवर में आकर जमकर अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगे।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 26 Aug 2020, 05:19 PM IST

कानपुर देहात-गांव में नाले की समस्या का निस्तारण कराने पहुंची राजस्व टीम में लेखपाल व ग्रामीणों के बीच हुई जमकर झड़प। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। वीडियो में काफी समय तक है वोल्टेज ड्रामा चला है। बताया गया कि कानपुर देहात के सिकंदरा तहसील क्षेत्र के जसापुर गांव में नाले की समस्या को लेकर राजस्व निरीक्षक सुरेश सिंह टीम के साथ पहुंचे। बताया गया पानी निकासी को लेकर ग्रामीणों ने इसके पूर्व शिकायत की थी, जिस पर टीम पहुंची थी। आरोप है कि इस दौरान हैं नाला बंद कराने की बात कही गई तो ग्रामीणों ने आदेश की कॉपी दिखाने की बात कही, जिस पर लेखपाल भड़क गए। लेखपाल का नाम आदर्श दीक्षित बताया गया है। आक्रोशित हुए लेखपाल और ग्रामीणों के बीच कहासुनी होने लगी। फिर देखते ही देखते ग्राम प्रधान की मौजूदगी में ग्रामीणों की भीड़ एकत्रित हो गई।

ग्रामीणों का आरोप है कि ग्रामीणों की समस्या का निस्तारण कराने की बजाय लेखपाल तेवर में आकर जमकर अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगे। जब ग्रामीणों ने विरोध किया तो उन्होंने भद्दी भद्दी गालियां देनी शुरू कर दी। जिसके बाद राजस्व टीम ने नाले को बन्द करा दिया। ग्रामीणों के मुताबिक जल निकासी के लिए अब और समस्या बढ़ गई है। ग्रामीणों का कहना है कि मना करने के बावजूद राजस्व टीम ने उनकी एक नहीं सनी। अब बारिश का पानी निकलना मुश्किल होगा। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ है। जिसके बाद ग्रामीण राजस्व टीम द्वारा नाली बंद कराए जाने की शिकायत को लेकर सिकंदरा तहसील पहुंचे। वहीं वायरल हुए इस वीडियो को कानपुर देहात के जिलाधिकारी ने संज्ञान में लिया है।

डीएम डॉ दिनेश चंद्र ने कहा कि सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें लेखपाल व ग्रामीणों में झड़प हुई है, वीडियो में लेखपाल द्वारा अभद्र भाषा का प्रयोग किया गया है। लेकिन मामले की वास्तविकता के लिए एसडीएम सिकंदरा को मौके पर भेजा गया है। उन्होंने कहा कि छोटी वीडियो क्लिप के चलते कहासुनी के मूल तथ्य समझ नहीं आ रहे हैं। हो सकता है कि ग्रामीणों व लेखपाल में किसी बात को लेकर दोनों पक्षों से हुआ हो। किन परिस्थितियों में गाली गलौज हुआ हो, इसलिए सिकंदरा उपजिलाधिकारी को जांच के लिए मौके पर भेजा गया है। साथ ही उन्होंने जिले के अन्य कर्मचारियों से किसी भी परिस्थिति में संयम न खोने एवं धैर्य से काम करने की अपील की है। अन्यथा की स्थिति में कड़ी कार्यवाही की बात कही है।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned