इस शहर में रहते हैं 18 लाख मोटे लोग, सिर पर मंडरा रहा मौत का खतरा

इस शहर में रहते हैं 18 लाख मोटे लोग, सिर पर मंडरा रहा मौत का खतरा

Alok Pandey | Updated: 12 Oct 2019, 01:34:46 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

मोटे लोगों की संख्या बेतहाशा बढ़ी है, इसी कारण जानलेवा बीमारियां घेर रही हैं

कानपुर। जिंदगी की तेज रफ्तार और खानपान की बिगड़ी आदत ने मोटे लोगों की संख्या को बेतहाशा बढ़ाया है। डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट पर भरोसा करें तो वर्ष 2025 तक दुनिया में 27 अरब मोटे लोग होंगे। मोटे लोगों को मामले में अमेरिका पहले नंबर पर है, जबकि भारत तीसरे नंबर पर। एक अध्ययन के मुताबिक, उत्तर भारत में प्रत्येक तीसरा व्यक्ति मोटापे से पीडि़त है। मोटे लोगों में पुरुषों के मुकाबले महिलाओं की संख्या ज्यादा है। अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक, 58 लाख की आबादी वाले कानपुर शहर में 18 लाख नागरिक मोटापे के शिकार हैं। इस कारण हाई ब्लडप्रेशर, डायबिटीज के साथ-साथ हार्ट और पेट संबंधी रोगों में इजाफा हुआ है। मोटापे का पैरामीटर बताते हैं कि कायदे से मर्दो की कमर 40 इंच, जबकि महिलाओं की 36 इंच से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। वजन के हिसाब से यूं समझिए कि 28.5 बीएमआई का मतलब मोटापा शुरू।

मोटापे से कैंसर का भी खतरा
विश्व मोटापा दिवस पर जारी एक रिपोर्ट बताती है कि वर्ष-2025 तक होने वाली सभी मौतों में मोटापे से होने वाली मौतें सबसे अधिक होंगी। विशेषज्ञों के मुताबिक मोटापा से डायबिटीज, हार्ट, किडनी, लिवर और कुछ तरह के कैंसर का प्रमुख कारक बन रहा है। बैरियाट्रिक सर्जन के अध्यक्ष डॉ. शिवाकांत मिश्र के मुताबिक देश में अमेरिका और चीन से भी अधिक मोटापा पीडि़त हैं। इनमें युवाओं की संख्या अधिक है।

शहरी क्षेत्रों में पांच फीसदी ज्यादा मोटे लोग
ग्रामीण क्षेत्रों की तुलना में शहरी क्षेत्रों में पांच फीसदी मोटापा अधिक है। शहरी क्षेत्र में हर तीसरा व्यक्ति मोटापे से पीडि़त है। इसमें पुरुषों की तुलना में महिलाओं की संख्या अधिक है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे गम्भीर समस्या माना गम्भीर स्थिति को देखते हुए केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, मोटापा को नान काम्युनिकेबिल डिसीज की श्रेणी में रखने की तैयारी कर चुका है। इससे लोगों को जागरूक किया जा सकेगा। डॉ. एसके मिश्र के मुताबिक मोटापे से बचने के लिए खान-पान को संतुलित रखने, खाने में फैट कम करने के साथ नियमित योगा, व्यायाम और मार्निग वॉक किया जाना चाहिए।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned