बीजेपी प्रदेश महामंत्री ने कहा मुख्यमंत्री के चलते अब तेज रफ्तार से दौड़ेगी उद्योगनगरी


बीजेपी नेता ने बजट को बताया एतिहासिक, यूपी की 22 करोड़ की जनता को मिलेगा लाभ, विकास के पथ पर आगे बड़ेगा प्रदेश।

कानपुर। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने मंगलवार को अपना चैथा बजट विधानमंडल के दोनों सदनों में पेश किया। जहां विरोधी दल के नेता खोखला तो वहीं भाजपा इसे मील का पत्थर करार दे रही हैं। पूर्व विधायक व बीजेपी प्रदेश महामंत्री सलित विश्नोई ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर के लिए बजट में बहुत धनराशि अवंटित की है। मेट्रो के लिए 358 करोड़ रूपए जारी कर दिए हैं। बुनकरों को भी रोजगार देने के लिए अलग से प्रावधान किया है। बजट में एक जिला, एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना के लिए 250 करोड़ दिए हैं। खादी उइोग से 16 हजार युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य रख गया है। 2020-21 का बजट से उद्योगनगरी को विकास के पंख लगने तय हैं।

सबका होगा विकास
करीब 512860.72 करोड़ के इस भारी भरकम बजट में कानपुर को भी बहुत कुछ दिया गया है। जिसको लेकर महामंत्री ने प्रदेश सरकार की पीट थपथपाते हुए कहा योगी सरकार के इस बजट में सबका-साथ, सबका-विकास और सबके विश्वास की झलख दिखती है। अखिलेश यादव और मायावती व कांग्रेस की सरकारों के कार्यकाल के दौरान कुछ एक जिलों के विकास पर फोकस किया जाता था, लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरब से लेकर पच्छिम और उत्तर से दक्षिण तक के लोगों को ध्यान में रखकर सरकार की तिजोरी से राशि आवंटित की है।

मेट्रो के लिए राशि आवंटित
बीजेपी प्रदेश महामंत्री ने बताया कि कानपुर मेट्रो के लिए योगी सरकार ने 258 करोड़ की राशि आवंटित कर दी है। इससे पहले फेज का कार्य जल्द पूरा होगा। बताया, मेट्रो के लिए राज्य सरकार ने 26688.62 करोड़ देने है। जबकि इतनी ही धनराशि केंद्र सरकार की तरफ से मिलनी हैं। इस धनराशि से मेट्रो का काम तेजी पकड़ेगा। वित्तीय समस्याएं अब सामनें नहीं आएंगी। धनराशि मिलने के बाद आईआईटी से मेातीझील तक सड़क चैड़ीकरने का कार्य तेज गति से होगा। इससे जाम की समस्या से छुटकारा मिलेगा।

बुनकरों को मिलेगा रोजगार
प्रदेश महामंत्री ने कहा कि बनारस के बाद कानपुर में बुनकरों की सख्या अधिक है। बजट में बुनकरों को भी रोजगार देने का अगल से प्रावधान है। इस मदद से शहर के सुजातगंज और फेथफुलगंज के बुनकारों को फाएदा होगा। बताया यहां के बुनकरों के हाथों से रोजगार पिछली सरकारों के चलते छिना और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इनके दर्द को समझते हुए राशि दी है। जिससे बुनकर फिर से अपने पैरो पर खड़े हो सकेंगे और इस उद्योग को आगे लेकर जाएंगे।

होजरी-टेक्सटाइल को भी फाएदा
महामंत्री ने बताया कि कानपुर को कभी होजरी और टेक्स्टाइल के नाम से जाना जाता रहा। कांग्रेस की केंद्र व यूपी की राज्य सरकारों के चलते ये उद्योग वेंटीलेटर पर चल रहा है। योगी सरकार ने बजट में एक जिला, एक उत्पात योजना के तहत 250 करोड़ रूपए का का प्रावधान किया है। कानपुर के चर्म उद्योग को ओडीओपी में शामिल किया गया है। बताया होजरी और टेक्सटाइल जल्द ही ओपीओडी का हिस्सा बनेंगे। जिससे कानपुर में करीब तीन हजार से ज्यादा लोगों को फाएदा पहुंचेगा। इसमें सबसे ज्यादा संख्या हमारे मुस्लिम भाईयों की है।

गंगा एक्सप्रेस-वे देगा रफ्तार
प्रदेश महामंत्री के मुताबिक सरकार ने पच्छिम यूपी की दो महत्वपूर्ण परियोजनाओं जिसमें जेवर एयरपोर्ट व गंगा एक्सप्रेस-वे के लिए 2-2 हजार करोड़ रूपए की व्यवस्था की है। देश के सबसे लंबे गंगा एक्सप्रेस-वे (637) किमी के लिए बजट में अलग से व्यवस्था की गई है। ये एक्सप्रेस-वे मेरठ को प्रयागराज से जोड़ेगा। आठ लेन वाले एक्सप्रेस-वे का लाभ उन्नाव के साथ ही कानपुर के लोगों को भी मिलेगा। साथ ही इसके किनारे पड़ने वाले जिलों में यूपीडा उ़द्योगों को विकसित करेगा। इसके जरिए कानपुर से अन्य शहरों के लिए माल आयात और निर्यात होगा।

आईआईटी की ली जाएगी मदद
प्रदेश महामंत्री ने बताया कि पर्यावरण और वन्यजीवों को बचाने के लिए आईआईटी कानपुर का सहयोग लेगी। इसके लिए सरकार ने आईआईटी को तकनीकि पार्टनर बनाने की ऐलान किया है। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस आधारित तकनीकि का प्रयोग कर वन्य जीवों की तस्करी को पूरी तरह से रोका जाएगा। बताया, वर्तमान में दुधवाटाइगर रिजर्व में इसी तकनीकि के जरिए स्मार्ट पेट्रोलिंग की जा रही है।

 

 

 

Bharatiya Janata Party
Show More
Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned